पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने राष्ट्रपति से की पीएम मोदी की शिकायत, बोले-कांग्रेस को धमकाते हैं

भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या की मुश्किलें बढ़ी, ब्रिटेन की अदालत ने 6 महंगी कारें बेचने का दिया आदेश

यूपी और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी का 93 साल की उम्र में निधन, दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में ली आखिरी सांस

UIDAI ने 90 करोड़ लोगों को दी राहत, नहीं बंद होंगे आधार से जारी हुए मोबाइल नंबर

#MeToo के लपेटे में आए एमजे अकबर कोर्ट में नहीं हुए हाजिर, 31 अक्टूबर को दर्ज करायेंगे बयान

भारतीय नौसेना को मिली नई ताकत, अब गहरे पानी में भी कर सकेगी बचाव कार्य

पीएम मोदी की महत्वाकांक्षी बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए 1 साल में 1 हेक्टेयर जमीन का भी नहीं हुआ अधिग्रहण

2018-05-14_pm-modi-manmohan-singh.jpg

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सोमवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को चिट्ठी लिखकर नरेंद्र मोदी की शिकायत की। इसमें उन्होंने कहा कि मोदी को कांग्रेस और दूसरी पार्टियों के नेताओं के लिए अनचाही और धमकीभरी भाषा के इस्तेमाल कर रहे हैं, इसके लिए उन्हें सावधान किया जाए। यह देश के प्रधानमंत्री पद पर बैठे शख्स को शोभा नहीं देता। बता दें कि मनमोहन पिछले हफ्ते भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में मोदी पर निशाना साध चुके हैं।

7 मई को मनमोहन सिंह ने कहा, नोटबंदी और जीएसटी से ग्रामीण अर्थव्यवस्था और आम आदमी को नुकसान पहुंचा। पेट्रोल की ऊंची कीमतों ने हालात को बदतर बना दिया। लगातार टैक्स बढ़ाकर भाजपा सरकार ने आम लोगों की कीमत पर बढ़ी तेल कीमतों से 10 लाख करोड़ रुपए की कमाई की है। सरकार का मिसमैनेजमेंट साफ तौर पर झलक रहा है। मोदी सरकार के आर्थिक प्रबंधन से आम जनता बैंकिंग व्यवस्था पर अपना भरोसा खो रही है। हाल की घटनाओं से हुई कैश की किल्लत को कई राज्यों में रोका जा सकता था।

हमारे प्रधानमंत्री दावोस में नीरव मोदी के साथ थे। कुछ ही दिन बाद नीरव मोदी देश छोड़कर भाग गया। इसी से मोदी सरकार के वंडरलैंड में हो रही दुखद चीजों की झलकी मिलती है। जहां तक नीरव मोदी का सवाल है, यह जाहिर है कि 2015-16 तक कुछ न कुछ चल रहा था। लेकिन मोदी सरकार ने कुछ नहीं किया। अगर किसी पर दोष मढ़ना होगा तो वह मोदी सरकार ही होगी।

जिस तरह नरेंद्र मोदी हर दिन अपने विरोधियों के खिलाफ बातें कहने के लिए अपने पद का इस्तेमाल कर रहे हैं, वैसा दुरुपयोग किसी प्रधानमंत्री ने नहीं किया। इतने निचले स्तर पर चले जाना प्रधानमंत्री को शोभा नहीं देता। यह देश के लिए भी ठीक नहीं है। उन्होंने कहा लगातार टैक्स बढ़ाकर भाजपा सरकार ने आम लोगों की कीमत पर बढ़ी तेल कीमतों से 10 लाख करोड़ रुपए की कमाई की है। आज हमारा देश बेहद मुश्किल दौर से गुजर रहा है, हमारे किसानों को संकट का सामना करना पड़ रहा है।



loading...