फीफा विश्व कप: दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले में आज इंग्लैंड और क्रोएशिया होंगे आमने-सामने, फाइनल में फ्रांस से होगा मुकाबला

खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ से मिले बजरंग पुनिया, कहा- सही जवाब नहीं मिला तो कोर्ट जाऊंगा

Asia Cup 2018: टीम इंडिया के लिए बुरी खबर, हार्दिक पांड्या के बाद यह 2 खिलाडी भी हुए टीम से बाहर, इन खिलाडियों को मिला मौका

Asia Cup 2018: पाक की करारी हार पर बोले सरफराज अहमद, हमने 2 स्पिनर के लिए की तैयारी, तीसरे ने खेल बिगाड़ दिया

Asia Cup 2018: टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा ने पाकिस्तान के खिलाफ लगाया ‘बुर्ज खलीफा’ से भी ऊँचा छक्का

Asia Cup 2018: टीम इंडिया में पाकिस्तान से लिया चैंपियन ट्राफी का बदला, अब तक की सबसे बड़ी जीत

Asia Cup 2018: शुरुआत में लड़खड़ाई पारी को फिर लगा झटका, पाकिस्तान का स्कोर 86/3

2018-07-11_englandvscroatia.jpg

फुटबॉल विश्व कप के दूसरे सेमीफाइनल में बुधवार को इंग्लैंड का मुकाबला क्रोएशिया से होगा. विश्व कप में दोनों टीमें पहली बार आमने-सामने होंगी. अब तक ये आपस में 7 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुकी हैं. इनमें इंग्लैंड ने चार और क्रोएशिया ने दो मैच जीते हैं. एक मैच ड्रॉ रहा. इंग्लैंड की टीम तीसरी बार विश्व कप का सेमीफाइनल खेलेगी. इससे पहले 1966 में उसने पुर्तगाल को 2-1 से हराया था और 1990 में उसे जर्मनी ने पेनल्टी शूट आउट में बाहर कर दिया था. क्रोएशिया दूसरी बार सेमीफाइनल में पहुंची है. इससे पहले, उसे 1998 में मेजबान फ्रांस ने 2-1 से हरा दिया था. पहला सेमीफाइनल मुकाबला मंगलवार को फ्रांस और बेल्जियम के बीच खेला गया. फ्रांस ने यह मैच 1-0 से जीता था. 

क्रोएशिया के कप्तान लुका मोड्रिच और मीडफिल्डर इवान रकिटिच इस विश्व कप में अपनी टीम के लिए प्लेमेकर साबित हुए हैं. मोड्रिच ने दो गोल और एसिप्ट ने एक गोल किया है. मोड्रिच ने 2 गोल और 1 एसिस्ट किया हैं और रकिटिच ने 1 गोल किए हैं. पिछले दो पेनल्टी शूट आउट में मोड्रिच ने तीसरे और रकिटिच ने पांचवें नंबर पर आकर शॉट लेकर गेंद को गोलपोस्ट में डाला. इन दोनों के साथ-साथ पेरिसिच, रेबिच और गोलकीपर सुबासिच इंग्लैंड के लिए खतरा बन सकते हैं.

सुबासिच ने क्रोएशिया के खिलाफ 80% गोल के प्रयास के नाकाम किया है. इंग्लैंड के स्ट्राइकर हैरी केन ने इस विश्व कप में सबसे ज्यादा 6 गोल किए हैं, जिसमें उन्होंने 3 गोल पेनल्टी के जरिए किए. रहीम स्टर्लिंग ने गोल तो नहीं किया, लेकिन अपनी तेजी और पास से विपक्षी टीमों को परेशानी में डाला है. इंग्लैंड के पास हैरी केन और स्टर्लिंग के अलावा जेसी लिंगार्ड, स्टोन्स और अनुभवी येरी मिना जैसे मजबूत खिलाड़ी है.



loading...