इंग्लैंड की भारत के खिलाफ एक और चुनौती, जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड को पास करना होगा फिटनेस टेस्ट

महेंद्र सिंह धोनी को आज भी BCCI मानता है भारतीय क्रिकेट टीम का कप्तान, यह रहा सबूत

कोच रवि शास्त्री ने खोला धोनी के सन्यास का राज, बताई यह खास वजह

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान, ऋषभ पंत को पहली बार टेस्ट टीम में मिली जगह, रोहित शर्मा की छुट्टी

इंग्लैंड ने तीसरे वनडे मुकाबले में 8 विकेट से जीत दर्ज की, कोहली की कप्तानी में भारत पहली बार द्विपक्षीय वनडे सीरीज हारा

फीफा विश्व कप: फाइनल मुकाबले में क्रोएशिया हराकर दूसरी बार चैंपियन बना फ्रांस

नॉटिंघम वनडे में अनुष्का शर्मा ने विराट को जीत के बदले दी फ्लाइंग किस, सोशल मीडिया पर विडियो वायरल

2018-07-05_jemesandbraud.jpg

T-20 सीरीज के पहले मुकाबले में हार के बाद इंग्लैंड की टीम की हवाईयां उड़ी है. उसे समझ नहीं आ रहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत का सिलसिला टीम इंडिया के मोर्चे पर कैसे ठंडा पड़ गया. बहरहाल, ये तो जो हुआ सो हुआ लेकिन अब उसके दो तेज गेंदबाजों को टीम इंडिया से मुकाबले का लाइसेंस तभी मिलेगा जब वो फिटनेस के पैमाने पर खरे उतरेंगे. जी हां, हम बात कर रहे हैं जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड की, जो फिलहाल इंजर्ड हैं और टीम इंडिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए इंग्लैंड की टीम में जगह बनाने को बेताब हैं. लेकिन, इनकी ये बेताबी तभी दूर होगी जब ये पूरी तरह से खुद को फिट साबित करेंगे.

लंकाशायर ने खासकर एंडरसन के लिए एक 3 दिन का फ्रेंडली मैच रखा है जो कि 15 जुलाई से शुरू होगा. हालांकि, पहले ये कयास थे कि एंडरसन वेस्टइंडीज के खिलाफ 3 दिन का मैच सरे काउंटी के लिए खेलेंगे लेकिन अब जबकि लंकाशायर ने सेकेंड टीम गेम की व्यवस्था की है तो एंडरसन को वेस्टइंडीज के खिलाफ नहीं खेलना पड़ेगा. इंग्लैंड के दूसरे तेज गेंदबाज और एंडरसन के जोड़ीदार स्टुअर्ट ब्रॉड की एंकल इंजरी के थर्ड स्कैन की रिपोर्ट भी क्लीयर है और वो रोजेज चैम्पियनशिप में 22 जुलाई को नॉटिंघमशायर के लिए खेलते दिखेंगे. ब्रॉड को अपनी इंजरी से उबरने के लिए इंजेक्शन का सहारा लेना पड़ा है.

आपको बता दें कि कंधे की चोट की वजह से एंडरसन को 6 हफ्ते का आराम दिया गया था वहीं ब्रॉड का एंकल नॉटिंघमशायर के लिए खेले चैम्पियनशिप के आखिरी मैच में चोटिल हुआ था. भारत के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज में ये दोनों गेंदबाज इंग्लैंड की अहम कड़ी होंगे. लेकिन, उससे पहले एंडरसन और ब्रॉड दोनों को मैच फिट होने का प्रमाण देना होगा. अगर ये दोनों फिटनेस टेस्ट में पास हुए तो इनके सामने 5 टेस्ट मैचों की सीरीज में भारत के खिलाफ बेहतर करने का चैलेंज होगा.



loading...