ताज़ा खबर

कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में समन, आज ईडी के सामने हो सकते हैं पेश

बेंगलूरू: भारतीय विज्ञान कांग्रेस में बोले पीएम मोदी- प्रयोगशालाओं में सिंगल यूज प्लास्टिक का विकल्प खोजें

कर्नाटक: पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- पड़ोसी देशों में हिंदुओं पर जुल्म, कांग्रेस पाक नहीं शरणार्थियों के खिलाफ बोल रही है

कर्नाटक: येदियुरप्पा सरकार का यूटर्न, मंगलूरू हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों को मुआवजा देने का फैसला लिया वापस

Karnataka Bypoll Live: 15 विधानसभा सीटों पर मतदान जारी, येदियुरप्पा के लिए परीक्षा की घड़ी

यह कंपनी 9 घंटे सोने के लिए दे रही है 1 लाख रुपए सैलरी, ड्रीम जॉब कर रही है आपका इंतजार

कर्नाटक: कांग्रेस-जेडीएस के 15 विधायकों ने थामा भाजपा का दामन, सीएम येदियुरप्पा भी रहे मौजूद

2019-08-30_DKShivkumar.jpg

कर्नाटक कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को पेश होने के लिए बुलाया है. इसके लिए ईडी ने उन्हें समन भेजकर दिल्ली में 1 बजे पेश होने के लिए कहा है. गुरुवार को कर्नाटक उच्च न्यायालय ने उनकी एक याचिका को खारिज कर दिया था. याचिका में शिवकुमार ने ईडी के समन को खारिज करने की मांग की थी. अब चूंकि याचिका खारिज हो गई है इसलिए उन्हें ईडी के सामने पेश होना पड़ेगा.

ईडी के समन पर कांग्रेस नेता ने कहा, 'मैंने अदालत से अनुरोध किया था कि यह एक साधारण सा आयकर का मामला है. मैं पहले ही आयकर रिटर्न दाखिल कर चुका हूं. इसमें प्रिवेंशन ऑफ मनी लांड्रिंग (पीएमएलए) का कोई मामला नहीं है. कल रात उन्होंने मुझे एक बजे दिल्ली आने के लिए समन भेजा. मैं कानून की इज्जत करता हूं.'

उन्होंने आगे कहा, 'पिछले दो सालों से मेरी 84 साल मां की पूरी संपत्ति को विभिन्न जांच अधिकारियों ने बेनामी संपत्ति के रूप में संलग्न किया गया है और मैं उसमें बेनामी हूं. हमारा सारा खून पहले ही चूसा जा चुका है.' शिवकुमार ने कहा, 'मैंने कोई गैर कानूनी काम नहीं किया है. भाजपा नेताओं ने ऑन रिकॉर्ड कहा है कि वह मुझे परेशान करने वाले हैं. उन्हें मुझे तकलीफ देने का आनंद लेने दें. मैं इसमें हिस्सा लूंगा और सहयोग करुंगा. मैं आज दोपहर तक व्यस्त हूं इसके बाद मैं दिल्ली के लिए रवाना हो जाऊंगा.'

पिछले साल ईडी ने शिवकुमार और अन्य के खिलाफ मनी लांड्रिंग का मामला दर्ज किया था। दर्ज किया है। अधिकारियों ने बताया था कि यह मामला कथित कर चोरी और हवाला लेनदेन मामले के आधार पर दर्ज किया गया है। वहीं साल 2017 में उनके 64 ठिकानों पर छापेमारी की गई थी। उनके खिलाफ जांच एजेंसी ने आय से अधिक संपत्ति का भी मामला दर्ज किया है। वहीं कांग्रेस नेता इस कार्रवाई को बदले की भावना से की गई कार्रवाई बताती रहे हैं.



loading...