चुनाव आयोग ने इलेक्ट्रॉनिक विज्ञापन में 'पप्पू' शब्द का इस्तेमाल करने से बीजेपी को रोका

यूपी-बिहार के लोगों को धमकाने के आरोप पर अल्पेश ठाकोर ने कहा- अगर मैंने धमकी दी होगी तो जेल जाऊंगा

गुजरात में उत्तर भारतीयों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन पर नीतीश कुमार ने की रूपाणी से बात, राहुल को जदयू का खुला खत

पीएम मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक की दूसरी वर्षगांठ पर जोधपुर के कोणार्क मेमोरियल में शहीदों को दी श्रद्धांजलि

गुजरात: गिर के जंगलों में 11 बब्बर शेरों की मौत, सरकार ने दिए जांच के आदेश

गुजरात में क्लर्क की परीक्षा में सवाल, हार्दिक पटेल को किस नेता ने पानी पिलाने की पेशकश की थी

हार्दिक पटेल ने 19वें दिन नारियल पानी पीकर खत्म किया अनशन, कहा- जिंदा रहकर लडूंगा

2017-11-15_ec-bars-gujarat-election.JPG

चुनाव आयोग ने एक इलेक्ट्रॉनिक विज्ञापन में ‘‘पप्पू’’ शब्द का इस्तेमाल करने से गुजरात में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को रोक दिया। इस विज्ञापन में जाहिरा तौर पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को निशाना बनाया गया था जिसे ‘‘अपमानजनक’’ बताया गया. राहुल गांधी पर जब निशाना साधा जाता है तो सोशल मीडिया पर ‘‘पप्पू’’ शब्द का इस्तेमाल किया जाता है.

इस घटनाक्रम की पुष्टि करते हुए बीजेपी के सूत्रों ने बताया कि विज्ञापन की पटकथा में किसी शब्द का किसी व्यक्ति विशेष से कोई संबंध नहीं है. गुजरात के सीईओ बीबी स्वैन से जब संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें इस तरह के किसी घटनाक्रम के बारे में कोई जानकारी नहीं है और वह विस्तृत जानकारी मिलने के बाद ही कल कोई प्रतिक्रिया दे सकते है.

बता दें कि गुजरात में विधानसभा का चुनाव दो चरणों में होगा. पहला चरण 9 दिसंबर और दूसरा 14 दिसंबर को निर्धारित किया गया है. नतीजे 18 दिसंबर को आएंगे. इन चुनावों के लिए कांग्रेस और बीजेपी दोनों ने कमर कस ली है. बीजेपी जहां विकास के नाम पर जनता से वोट मांग रही है तो वहीं राहुल गांधी ने नोटबंदी और जीएसटी को मुद्दा बनाया है.

गुजरात में 4.33 करोड़ मतदाता हैं. चुनाव में वीवीपीएटी लगी ईवीएम का प्रयोग किया जाएगा. ज्ञात हो कि मौजूदा गुजरात विधानसभा का कार्यकाल 22 जनवरी, 2018 को समाप्त हो रहा है.



loading...