दिल्ली युनिवर्सिटी छात्रसंघ चुनाव में ABVP ने अध्यक्ष समेत 3 पदों पर किया कब्जा, NSUI को मिली मात

सिग्‍नेचर ब्रिज पर किन्‍नरों ने निर्वस्त्र होकर की अश्लील हरकतें, सोसिल मीडिया पर विडियो वायरल, मामला दर्ज

दिल्ली के वसंत कुंज में डबल मर्डर, आरोपी दर्जी ने बताई फैशन डिजाइनर की हत्या की वजह

दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ा पिज्जा लुटेरा गैंग, ऑर्डर देकर डिलीवरी ब्‍यॉय से करते थे लूटपाट

दिल्ली: जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम के हॉस्टल में ऐथलीट पालेंदर चौधरी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

छठ पूजा 2018: दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने जारी की एडवाइजरी, 13 और 14 नवंबर को इन रास्तों पर जाने से बचें

सीबीआई ने घूस लेने के आरोप में दिल्ली सरकार के जीएसटी असिस्टेंट कमिश्नर जितेंद्र जून को किया गिरफ्तार

2018-09-14_abvpwindusuelections.jpg

दिल्ली युनिवर्सिटी के छात्रसंघ चुनाव में बीजेपी की छात्र यूनियन ABVP ने पताका फहराया है. ABVP ने DUSU चुनाव में अध्यक्ष समेत तीन पदों पर जीत दर्ज की है जबकि कांग्रेस पार्टी की छात्र यूनियन NSUI को सिर्फ एक सीट पर जीत हासिल हुई है. वहीं लेफ्ट और आम आदमी पार्टी के गठबंधन की छात्र इकाई को इस चुनाव में भारी हार मिली है. 

अध्यक्ष पद पर ABVP के उम्मीदवार अंकिव बसोया ने जीत दर्ज की है. वहीं उपाध्यक्ष और संयुक्त सचिव के पद पर भी ABVP ने बाजी मारी है. जबकि, NSUI के खाते में सिर्फ सचिव का पद आया है. उपाध्यक्ष पद पर ABVP के शक्ति सिंह, सचिव पद पर NSUI के आकाश चौधरी और संयुक्त सचिव पद पर ABVP की ज्योति चौधरी को जीत मिली है.

लेकिन इस चुनाव में जो सबसे चौकाने वाली बात रही वह नोटा को मिले वोट थे. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि अध्यक्ष के चुनाव में 6211 वोट नोटा को मिले, जबकि उपाध्यक्ष पद के लिए 6435 वोट, सचिव पद के लिए 6810 वोट और संयुक्त सचिव पद के लिए 8273 वोट नोटा को डाले गए.

आपको बता दें कि पिछले साल हुए छात्रसंघ चुनाव में ABVP को करारा झटका लगा था, तब NSUI ने ABVP को झटका देते हुए अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद पर कब्जा किया था, वहीं ABVP के खाते में सिर्फ सचिव और संयुक्त सचिव का पद आया था. जबकि इस बार ABVP ने वापसी करते हुए अध्यक्ष समेत तीन सीटें जीती हैं. 12 सितंबर को दिल्ली युनिवर्सिटी के छात्र संघ चुनाव में 44.66 प्रतिशत मतदान हुआ था.



loading...