DSP मौत: कर्नाटक के मंत्री केजे जॉर्ज के खिलाफ सीबीआई ने दर्ज की FIR

बेंगलुरू में शर्मनाक घटना, यात्रियों ने ओला कैब ड्राइवर को अगवाकर लूटा, विडियो कॉल कर पत्नी के उतरवाए कपड़े

कर्नाटक में बड़ा दर्दनाक हादसा, नहर में गिरी यात्रियों से भरी बस, 25 की मौत

कर्नाटक उपचुनाव परिणाम: लोकसभा और विधानसभा की 5 सीटों में से कांग्रेस जेडीएस गठबंधन को 4 पर जीत, बीजेपी के खाते में 1 सीट

कर्नाटक उपचुनाव: लोकसभा और विधानसभा की 5 सीटों पर वोटों की गिनती जारी, बेल्लारी में जीत की और बढ़ी कांग्रेस

बेंगलुरु में बिना अनुमति के खुला बिटकॉइन एटीएम जब्त, संचालक भी गिरफ्तार

कर्नाटक: बैंक मैनेजर ने लोन के बदले रखी सेक्स की डिमांड, महिला ने की जमकर धुनाई

2017-10-27_karnataka.jpeg

कर्नाटक के मादीकेरी में पुलिस उपाधीक्षक एमके गणपति की रहस्यमय मौत के मामले में नया मोड़ {आया | आ गया] है. खबर है कि CBI ने FIR दर्ज कर प्रदेश के मंत्री केजे जॉर्ज, पूर्व आईजीपी (लोकायुक्त) प्रणव मोहंती और पुलिस के पूर्व ADG   (प्रदेश का खुफिया विभाग) एएम प्रसाद को आरोपी बनाया है.

नियमों के मुताबिक CBI ने कर्नाटक पुलिस की FIR फिर से दर्ज की है. जांच एजेंसी का आरोप है कि गणपति ने अपनी मौत से पहले अपनी मौत के लिए जॉर्ज, मोहंती और प्रसाद को जिम्मेदार ठहराया था.

सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश न्यायमूर्ति एके गोयल और न्यायमूर्ति यूयू ललित की पीठ ने मरहूम पुलिस अधिकारी के पिता एमएम कुशलप्प की अपील स्वीकार करते हुए कर्नाटक हाईकोर्ट के फैसले को पलट दिया था.

याचिका में गणपति की मौत के मामले की CBI जांच की गुहार की गई थी. पीठ ने कहा कि इस मामले में कुछ चौंकाने वाले तथ्य हैं. चाहे यह हत्या या आत्महत्या का मामला हो, इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए. पीठ ने CBI को तीन महीने के अंदर स्थिति रिपोर्ट भी दर्ज करने को कहा था.

बता दें कि गणपति का शव पिछले वर्ष 7 जुलाई को मिला था. सुप्रीम कोर्ट ने सितंबर में मामले की जांच CBI को सौंप दी थी.



loading...