DSP मौत: कर्नाटक के मंत्री केजे जॉर्ज के खिलाफ सीबीआई ने दर्ज की FIR

कर्नाटक: CM कुमारस्वामी के मंत्री ने मांगी इनोवा की जगह फॉर्च्यूनर, कहा- बचपन से बड़ी कारों में घूमा

कर्नाटक: कांग्रेस की सौम्या रेड्डी ने जयनगर विधानसभा सीट जीती, बीजेपी के उम्मीदवार को 2,889 वोट से हराया

कर्नाटक में विभागों को लेकर कांग्रेस के विधायक नाखुश; मनचाहे विभाग न मिलने पर कलह, जा सकते हैं बीजेपी खेमे में

कर्नाटक: मंत्रिमंडल में जगह न मिलने से नाराज कांग्रेस विधायक बीजेपी में शामिल हो सकते हैं

कर्नाटक: कुमारस्वामी कैबिनेट का विस्तार, 25 मंत्रियों ने ली शपथ, बसपा और निर्दलीय विधायक भी शामिल

कर्नाटक कांग्रेस नेताओं का मंत्री पद को लेकर दिल्ली में जमावड़ा, कल होगा फैसला

2017-10-27_karnataka.jpeg

कर्नाटक के मादीकेरी में पुलिस उपाधीक्षक एमके गणपति की रहस्यमय मौत के मामले में नया मोड़ {आया | आ गया] है. खबर है कि CBI ने FIR दर्ज कर प्रदेश के मंत्री केजे जॉर्ज, पूर्व आईजीपी (लोकायुक्त) प्रणव मोहंती और पुलिस के पूर्व ADG   (प्रदेश का खुफिया विभाग) एएम प्रसाद को आरोपी बनाया है.

नियमों के मुताबिक CBI ने कर्नाटक पुलिस की FIR फिर से दर्ज की है. जांच एजेंसी का आरोप है कि गणपति ने अपनी मौत से पहले अपनी मौत के लिए जॉर्ज, मोहंती और प्रसाद को जिम्मेदार ठहराया था.

सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश न्यायमूर्ति एके गोयल और न्यायमूर्ति यूयू ललित की पीठ ने मरहूम पुलिस अधिकारी के पिता एमएम कुशलप्प की अपील स्वीकार करते हुए कर्नाटक हाईकोर्ट के फैसले को पलट दिया था.

याचिका में गणपति की मौत के मामले की CBI जांच की गुहार की गई थी. पीठ ने कहा कि इस मामले में कुछ चौंकाने वाले तथ्य हैं. चाहे यह हत्या या आत्महत्या का मामला हो, इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए. पीठ ने CBI को तीन महीने के अंदर स्थिति रिपोर्ट भी दर्ज करने को कहा था.

बता दें कि गणपति का शव पिछले वर्ष 7 जुलाई को मिला था. सुप्रीम कोर्ट ने सितंबर में मामले की जांच CBI को सौंप दी थी.



loading...