ताज़ा खबर

विडियो: अब UP में काम करेगी 24 घन्टे महिला हेल्पलाइन, डॉ रीता बहुगुणा जोशी ने किया उद्घाटन

गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण के विधेयक पर योगी कैबिनेट की मुहर, सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में आरक्षण होगा लागू

अवैध खनन मामले में IAS बी.चन्द्रकला और सपा नेता समेत 4 को ED का समन

यूपी: ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर घने कोहरे के चलते आपस में टकराए 50 वाहन, 30 से ज्यादा लोग घायल

प्रयागराज कुंभ: सपरिवार सहित गंगा आरती में शामिल हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, लोगों को दी शुभकामनाएं

उत्तर प्रदेश के लखनऊ, नोएडा, मेरठ, हापुड़, मुरादाबाद के अस्पतालों और डाक्टरों के आवास पर आयकर विभाग का छापा

'लखनऊ गेस्‍टहाउस कांड' पर शिवपाल यादव ने कहा- बहनजी ने मुझ पर यौन शोषण का आरोप लगाया था

2017-06-24_women-helpline.jpg

उत्तर प्रदेश की महिला बाल एवं परिवार कल्याण पर्यटन मंत्री डा. रीता बहुगुणा जोशी ने ‘181 महिला आशा ज्योति हेल्पलाइन’ का उद्घाटन किया. इस कॉल सेंटर में एक बार 30 लोग महिलाओं की शिकायत सुनेंगे. इस मौके पर डा. जोशी ने कहा कि ‘वर्तमान प्रदेश सरकार महिलाओं के सशक्तिकरण के प्रति बेहद संवेदनशील एवं गंभीर है. महिलाओं और बच्चों पर होने वाले अत्याचार आज की बड़ी समस्या है.

जिसके समाधान के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने कड़े कदम उठाए हैं. इसी कड़ी में तत्काल मदद स्थिति सुधार के लिए 181 महिला आशा ज्योति हेल्पलाइन को बेहतर ढंग से प्रभावी बनाया जा रहा है.’ डॉ.जोशी ने काल सेंटर का उद्घाटन के अवसर पर वहां पर आयी कुछ पीड़ित महिलाओं से बातकर उनकी समस्याओं को सुना और उन्हें पूरा न्याय दिलाने का आश्वासन भी दिया.

इस हेल्पलाइन के माध्यम से प्रदेश के 11 जिलों में महिलाओं और बच्चों को परामर्श तत्काल पुलिस सहायता एवं विधिक सहायता वह चिकित्सा उपलब्ध कराई जा रही है. इसके अलावा इस हेल्पलाइन के तहत सभी जिलों में आपकी सखी रानी लक्ष्मी बाई आशा ज्योति केंद्र भी बनाए गए हैं. जहां महिलाओं व बच्चों की मदद के लिए  रेस्क्यू वैन व पुलिस रिपोर्टिंग चौकी की व्यवस्था की गई है.

इस सफल योजना का विस्तार करते हुए वर्तमान सरकार से बाकी के 64 जिलों में भी शुरू करने जा रही है.

उन्होंने बताया 181 महिला आशा ज्योति हेल्पलाइन के जरिए मार्च 2016 से जून 2017 तक कुल 30993 महिलाओं को सहायता प्रदान की गई. इस मौके पर स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्री स्वाति सिंह ने महिलाओं को पूरी सुरक्षा और सम्मान दिलाने की बात कही ,

सबसे बड़ी बात यह 181 हेल्पलाइन महिलाओं के लिए चौबीसों घंटे सातों दिन उपलब्ध है.



loading...