महंगा तेल: दिल्ली में डीजल की कीमत ने तोड़ा रिकॉर्ड, 60 रु/लीटर के पार

दिल्ली के हयात होटल में पिस्टल दिखाकर गुंडागर्दी करने वाले आरोपी आशीष पांडेय को पटियाला हाउस कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़े शातिर चोर, लोन दिलाने के नाम पर करते थे लोगों से ठगी

ITO के पास बने SkyWalk पर लव-बर्ड्स पर निगरानी रखने के लिए तैनात किए गए बाउंसर

आज दिल्ली में सभी पेट्रोल पंप बंद, लोगों को हो रही भारी परेशानी

राजस्थान में सभी विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी AAP, जयपुर के रामलीला मैदान से 28 अक्टूबर से चुनाव-प्रचार शुरू करेंगे केजरीवाल

दिल्ली के हयात होटल में पिस्टल दिखाकर गुंडागर्दी करने वाले आरोपी आशीष पांडेय ने पटियाला हाउस कोर्ट में किया सरेंडर

2018-01-10_petrol-pump-oil-crude-gas-diesel.jpg

देश की राजधानी दिल्ली में डीजल के दाम में जबरदस्त बढ़ोतरी हुई है. मगलवार को डीजल की कीमत बढ़कर 60.66 रुपए प्रति लीटर होगई. पेट्रोल के दाम भी 70.53 रुपए प्रति लीटर तक पहुंच गए. अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों से तेल के दामों में आग लगा गई है.

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल 68 डॉलर प्रति बैरल हो गया है. मई 2015 के बाद से कच्चे तेल का यह सबसे ऊंचा भाव है. डीजल की कीमतों को वर्ष 2014 के उत्तरार्द्ध में सरकारी नियंत्रण से मुक्त किया गया था. उस समय अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल की कीमतों में गिरावट का दौर था. दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई में डीजल के दाम 3 अक्टूबर, 2017 के बाद से अधिकतम हैं.

वहीं, आम बजट से पहले तेल की कीमतों में हुई बढ़ोतरी से सरकार भी परेशान है. वहीं, पेट्रोलियम उत्पादों के दाम में बढ़ोतरी के कारण पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने के लिए केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान राज्य सरकारों को दोष दे रहे हैं. प्रधान ने कहा है कि ‘पेट्रोल और डीजल पर सिर्फ केंद्र सरकार ही कर नहीं लगाती है. राज्य सरकारें भी इसपर टैक्स लगाती हैं. केंद्र सरकार की ओर से ने प्रति लीटर 2 रुपए एक्साइज ड्यूटी में कटौती की गई है. अब वक्त है कि राज्य सरकारें भी अपना वैट कम कर लोगों को राहत पहुंचाएं.’

डीजल और पेट्रोल की बढती कीमतों से आम जनता भी परेशान हैं. अगर तेल की कीमतें ऐसी ही बढती रही तो महंगाई भी बढ़ेगी.



loading...