नोटबंदी पर अखिलेश का बड़ा ऐलान, मृतकों के परिजनों को देंगे दो-दो लाख

सोनभद्र कांड: उम्भा गांव पहुंची कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, पीड़ितों का हालचाल जाना

सोनभद्र कांड: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी 13 अगस्त को जाएंगी उम्भा गांव, पीड़ितों का लेंगी हालचाल

मुजफ्फरनगर में स्‍वागत समारोह के दौरान बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह हुए घायल, हॉस्पिटल में एडमिट

सपा सांसद आजम खान की मुश्किलें बढ़ीं, एसपी अजय पाल ने कहा- गिरफ्तारी के लिए धाराएं काफी

सीएम योगी का महिलाओं को तोहफा, रक्षाबंधन के दिन रोडवेज की सभी बसों में कर सकेंगी मुफ्त सफ़र

सपा के पूर्व सांसद संजय सेठ और सुरेंद्र सिंह नागर ने थामा भाजपा का दामन, उपचुनाव में दोबारा राज्यसभा भेज सकती है बीजेपी

2016-12-07_526484-akhilesh-yadav-new-size.jpg

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुधवार को एक बड़ा ऐलान किया। उन्होंने उत्तर प्रदेश में नोटबंदी के कारण मरे लोगों के परिजनों दो-दो लाख रुपये की मदद देने का फैसला किया है। उन्होंने अलीगढ़ की रजिया के परिजनों को भी पांच लाख रुपये की आर्थिक मदद दिए जाने की घोषणा की है। रजिया की मृत्यु भी नोटबंदी के कारण हो गई है। यह जानकारी प्रदेश सरकार के प्रवक्ता ने दी है। प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने अलीगढ़ की रहने वाली श्रीमती रजिया पत्नी अकबर हुसैन के निधन पर दुःख व्यक्त करते हुए उनके परिजन को मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है। इस घटना को दुःखद बताते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता को अपनी ही धनराशि को प्राप्त करने के लिए इस प्रकार बैंकों एवं एटीएम की लाइन में लग कर पैसा निकालने का प्रयास करना और उस पर भी सफल न हो पाना अत्यन्त कष्टप्रद है।

प्रवक्ता ने यहां बताया कि नोट बंदी के बाद श्रीमती रजिया अपने कारखाने से मजदूरी के रूप में प्राप्त 500-500 के छह नोट बदलवाने के लिए अपने नजदीकी बैंक में लगातार तीन दिन तक कोशिश करती रहीं, परन्तु वह नोट बदलने में सफल नहीं हो पायीं। इस पर आर्थिक रूप से कमजोर श्रीमती रजिया ने दुःखी होकर अपने आप को आग लगा ली। गम्भीर रूप से जली श्रीमती रजिया का जिला अस्पताल, जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कालेज, अलीगढ़ के बाद सफदरजंग अस्पताल, नई दिल्ली में इलाज चला। नई दिल्ली में इलाज के दौरान चार दिसम्बर को उनकी मृत्यु हो गई। मुख्यमंत्री ने उनके परिवार की खराब आर्थिक स्थिति को देखते हुए उनके परिजन को पांच रुपये आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश में नोट बंदी के फलस्वरूप बैंकों एवं एटीएम की लाइन में लगे लोगों की मौत को दुखद बताया है। उन्होंने ऐसे सभी कमजोर आर्थिक स्थिति वाले लोगों को परीक्षण के बाद मुख्यमंत्री सहायता कोष से दो-दो लाख रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है।
 



loading...