दिल्ली-एनसीआर में बारिश के बाद सुहाना हुआ मौसम, कई इलाकों में पानी भरा, लोगों को गर्मी से मिली राहत

दिल्ली-एनसीआर में सावन के पहले दिन ही बारिश से मौसम हुआ सुहाना, जलभराव से कई जगहों पर लगा जाम

मानहानि मामले में अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को मिली जमानत, 25 जुलाई को होगी अगली सुनवाई

दिल्ली-एनसीआर में बारिश के बाद मौसम हुआ सुहाना, चिलचिलाती गर्मी से मिली राहत

दिल्ली: केशवपुरम इलाके की फैक्ट्री में लगी भीषण आग, बचाव में दमकल की 25 गाड़ियां मौजूद

मानहानि मामले में अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को कोर्ट ने भेजा समन, 16 जुलाई को पेश होने का आदेश

दिल्ली: कड़कड़डूमा में स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय के कार्यालय में लगी भीषण आग, बचाव में दमकल की 22 गाड़ियां मौजूद

2019-05-15_Rain.jpg

दिल्ली-एनसीआर में मौसम का मिजाज बुधवार को बदल गया राजधानी में सुबह करीब 7 बजे से हल्की-हल्की बारिश शुरू हुई. भारी गर्मी में दिल्ली वासियों के लिए यह राहत की खबर है. कई दिनों से दिल्ली एनसीआर में जबरदस्त गर्मी पड़ रही थी. मौसम विभाग का यह भी कहना है कि अगले 48 घंटे उत्तर भारत में तापमान कम रहेगा. मौसम सुहाना होते ही लोगों ने बाहर निकलकर इसका लुफ्त उठाना शुरू कर दिया है.

मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक दिल्ली में अगले दो-तीन घंटों में बादलों की गड़गड़ाहट के साथ हवाएं चल सकती हैं. दिल्ली से सटे हुए इलाकों में मौसम राहत दे सकता है. दिल्ली से सटे हुए हरियाणा के हिसार, जींद, रोहतक, कैथल, गोहना, पानीपत, करनाल, सोनीपत और गुरुग्राम में भी मौसम बिगड़ने की संभावना है.

दिल्ली से सटे फरीदाबाद, पलवल, गाजियाबाद, नोएडा में भी मौसम का मिजाज बदल सकता है. जहां उत्तर भारत में बारिश होने की संभावना है वहीं छत्तीसगढ़, तेलंगाना, तमिलनाडु और पुड्डुचेरी में गर्म हवाएं अगले 4 से 5 दिन तक बनी रह सकती हैं. दिल्ली में बारिश होने से पहले अधिकतम तापमान 40.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और न्यूनतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस था. बुधवार को न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है. वेस्टर्न डिस्टरबेंस के कारण बदला मौसम.

मौसम विभाग के मुताबिक, उत्तर पश्चिम भारत में एक के बाद एक 3 वेस्टर्न डिस्टरबेंस अपना असर दिखा रहे हैं. इसकी वजह से मैदानी इलाकों के साथ-साथ पहाड़ी इलाकों में मौसम पूरी तरीके से बदल गया है. वेस्टर्न डिस्टरबेंस की वजह से पश्चिमी राजस्थान से लेकर पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हिमाचल, उत्तराखंड और जम्मू कश्मीर में बादलों की आवाजाही बढ़ जाएगी. कई जगहों पर हल्की बारिश शुरू होगी और इसी के साथ तेज हवाओं के थपेड़ों से लोगों को दो-चार होना पड़ेगा.



loading...