हिंदू आतंकवादी वाले बयान पर कमल हासन को दिल्ली हाई कोर्ट से राहत, याचिका खारिज

वाइस एडमिरल बिमल वर्मा की याचिका को रक्षा मंत्रालय ने किया खारिज, जानें क्या है मामला

कमल हासन ने ‘हिंदू’ शब्द को लेकर दिया विवादित बयान

सरकार के लिए विपक्ष की मोर्चेबंदी, राहुल गांधी से मिले नायडू, शाम को लखनऊ में अखिलेश-मायावती से करेंगे मुलाकात

लोकसभा चुनाव: PM मोदी और अमित शाह को मिली क्लीनचिट से नाराज चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने EC की मीटिंग से किया किनारा

PM मोदी की 5 साल में पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा- फिर बनेगी पूर्ण बहुमत वाली NDA की सरकार

साध्‍वी प्रज्ञा के नाथूराम गोडसे वाले बयान पर पीएम मोदी ने कहा- दिल से कभी माफ नहीं कर पाऊंगा, अनिल सौमित्र को पार्टी से निलंबित किया

2019-05-15_KamalHaasan.jpg

दिल्ली उच्च न्यायालय ने मक्कल निधि मय्यम पार्टी के अध्यक्ष और अभिनेता कमल हासन के खिलाफ दायर याचिका को खारिज कर दिया है. उनके खिलाफ यह याचिका भाजपा नेता अश्विनी उपाध्याय ने दाखिल की थी. अदालत ने कहा है कि चूंकि मामला तमिलनाडु में घटित हुआ इसलिए याचिकाकर्ता सही स्थान पर संपर्क कर सकते हैं. उनके खिलाफ यह याचिका नाथूराम गोडसे को हिंदू आतंकवादी कहने की वजह से दायर की गई थी.

चुनाव आयोग ने हाईकोर्ट को बताया कि कमल हसन के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई है और उपाध्याय की पहली मांग पूरी हो गई है. अदालत ने आयोग को निर्देश दिए कि वह याचिकाकर्ता की मांग के अनुसार अभिनेता के चुनाव प्रचार पर पांच दिन की रोक लगाने और उनकी पार्टी की मान्यता रद्द करने के विषय पर विचार करें.

13 मई को तमिलनाडु के अरवाकुरिची विधानसभा क्षेत्र में प्रचार करते हुए कमल हासन ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को स्वतंत्र भारत का पहला हिंदू आतंकवादी कहा था. जिसके बाद से सियासत गरमा गई है. उन्होंने कहा था, मैं ये इसलिए नहीं कह रहा कि यहां काफी संख्या में मुसलमान हैं. मैं ये महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने कह रहा हूं. आजाद भारत में पहला आतंकवादी एक हिंदू था. उसका नाम था- नाथूराम गोडसे. अरवाकुरिची में 19 मई को उपचुनाव होना है.

इससे पहले नवंबर 2017 में भी हासन तब विवाद में आए थे जब उन्होंने 'हिंदू उग्रवाद' पर तंज कसा था. तब भाजपा और दूसरे हिंदू संगठनों ने उनकी कड़ी आलोचना की थी. गोडसे को लेकर दिए उनके बयान पर राजनीति तेज हो गई है. जहां एआईएमआीएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी उनके पक्ष में आ गए हैं तो हिंदू संगठनों और भाजपा ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई है.

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरी ने कमल हासन के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा, 'कमल हासन का यह बयान एकदम गलत है. हिंदूओं का नाता कभी आतंकवाद से नहीं रहा है. यह सिर्फ मानसिकता का फर्क है. हिंदू कभी आतंकवादी नहीं होता है. सनातन हिंदू धर्म कभी भी किसी को हिंसा नहीं सिखाता. वह हमेशा प्रेम और सद्भाव की ही बात करता है. हिंदू धर्म पर टिप्पणी करने वालों को पहले हिंदू धर्म को जानना और समझना चाहिए.'

कमल हासन के पक्ष में ओवैसी ने कहा कि हम आतंकी को आतंकी नहीं कहेंगे तो क्या कहेंगे. उन्होंने कहा कि जिस शख्स ने महात्मा गांधी की हत्या की उसे हम आतंकी ही कहेंगे. पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि जिसने महात्मा गांधी की हत्या की उसे हम महात्मा कहें या राक्षस? आंतकी कहें या हत्यारा? औवैसी ने कपूर कमीशन की रिपोर्ट का जिक्र करते हुए कहा कि इस रिपोर्ट में जिसकी भूमिका साजिशकर्ता की साबित हुई है, उसे आप महापुरुष कहेंगे या फिर नीच कहेंगे? हम उसे आतंकवादी कहेंगे.



loading...