ताज़ा खबर

Google Pay यूजर्स के लिए झटका, दिल्ली हाई कोर्ट ने RBI से पूछा ये बड़ा सवाल

नागरिकता संशोधन विधेयक पर भारत का अमेरिका को जवाब, कहा- अपने काम से काम रखें

उन्नाव पीड़िता की मौत पर राहुल गांधी ने कहा- एक और बेटी ने न्याय और सुरक्षा के आस में दम तोड़ दिया

कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा- भाजपा ने बालाकोट के नाम पर लोगों का ध्यान भटकाकर 2019 लोकसभा चुनाव जीता

हैदराबाद एनकाउंटर पर इन नेताओं ने उठाए सवाल, मेनका गांधी ने कहा- देश में कानून है, अदालत है, तो आप पहले से बंदूक क्यों चला रहे हैं

उन्नाव कांड: एयरलिफ्ट कर देर रात दिल्ली लाई गई पीड़िता, आईसीयू में भर्ती, हालत बेहद गंभीर

दिल्ली: सीएम अरविंद केजरीवाल का एक और बड़ा फैसला, DTC और क्लस्टर बसों में लगेंगे CCTV कैमरे

2019-04-10_GooglePay.jpg

भारत में काफी लोकप्रिय डिजिटल पेमेंट ऐप ‘गूगल पे’ को लेकर दिल्ली उच्च न्यायालय ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से सवाल पूछा है. दिल्ली उच्च न्यायालय ने इस मामले में दायर एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए आरबीआई और गूगल इंडिया से जवाब मांगा है कि बिना मंजूरी भारत में गूगल पे ऐप कैसे चल रहा है. आपको बता दें कि याचिका में दावा किया गया है कि गूगल पे ऐप बिना आधिकारिक मंजूरी के काम कर रहा है.

मुख्य न्यायाधीश राजेंद्र मेनन और न्यायमूर्ति ए जे भंभानी की पीठ ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए आरबीआई से यह प्रश्न पूछा है. याचिका में कहा गया है कि गूगल पे पेमेंट के अधिनियमों का उल्लंघन कर रहा है और अवैध रूप से भारत में इसका इस्तेमाल हो रहा है. याचिका में कहा गया है कि गूगल पे को बैंक से कोई वैध प्रमाण पत्र नहीं मिला है.

अदालत ने आरबीआई और गूगल इंडिया को इस संबंध में नोटिस भी जारी किया और अभिजीत मिश्रा से जवाब मांगा है. आपको बता दें कि 20 मार्च को जारी आरबीआई की अधिकृत 'भुगतान प्रणाली ऑपरेटरों' की सूची में गूगल पे का नाम नहीं है. इस लिस्ट के सामने आने के बाद से ही बवाल मचा है.



loading...