दिल्ली : केजरीवाल सरकार का बुजुर्गों को तोहफा, फ्री में कर सकेंगे तीर्थयात्रा

Delhi-NCR में कल शाम से कुछ इलाकों में बारिश, पहाड़ी इलाकों में जमकर हो रही बर्फबारी

दिल्ली मेट्रो: ब्लू लाइन पर लगातार दूसरे दिन भी स्पीड पर लगा ब्रेक, रुक-रुक कर चल रही मेट्रो, यात्री परेशान

दिल्ली के इंद्रपुरी इलाके में 7वीं कक्षा की छात्रा ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में मिले चौकाने वाले खुलासे

दिल्ली: संसद के सामने किसनों का धरना, रैली में पहुंचे केजरीवाल ने कहा- आप लोगों का स्वागत है आप बार-बार दिल्ली आइये

दिल्ली: रामलीला मैदान पहुंचे देशभर से आए हजारों किसान, थोड़ी देर में संसद की ओर करेंगे मार्च

दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर की 10वीं मंजिल से कूदकर ACP प्रेम बल्लभ ने की खुदखुशी, जांच में जुटी पुलिस

2018-01-10_manish4.jpg

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने बुजुर्गों को तोहफा दिया है. वह हर विधानसभा क्षेत्र से लोगों को तीर्थ यात्रा कराएगी. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि ऐसे वरिष्ठ नागरिक जिनकी वार्षिक आय 3 लाख रुपये से कम हो और जो सरकारी व किसी स्वायत्त निकाय के कर्मचारी न हों इस सुविधा का लाभ उठा सकेंगे.

सिसोदिया ने बताया कि 'मुख्यमंत्री तीर्थयात्रा योजना' के तहत इन यात्राओं को कराया जाएगा. दिल्ली कैबिनेट की बैठक में इस पर मुहर लगाई गई है. जिन पांच तीर्थ मार्गों को बुजुर्ग चुन सकते हैं, उनमें मथुरा-वृंदावन-आगरा-फतेहपुर सीकरी, हरिद्वार-ऋषिकेश-नीलकंठ, पुष्कर-अजमेर, अमृतसर-आनंदपुर साहिब और जम्मू-वैष्णो देवी मंदिर शामिल हैं. राज्य सरकार यात्रा के पात्र नागरिकों के लिए यात्रा, ठहरने और खाने का बंदोबस्त करेगी. हर तीर्थयात्री पर लगभग 7 हजार रुपये खर्च आएगा.

वरिष्ठ नागरिक अपने साथ 18 वर्ष से अधिक आयु का कोई परिचारक रख सकेंगे. इसका खर्च भी सरकार वहन करेगी. उप मुख्यमंत्री ने कहा कि हर यात्रा की अवधि 3 दिन और 2 रातों की होगी और हर वर्ष हर विधानसभा क्षेत्र से यात्रा के लिए ग्यारह सौ बुजुर्ग चुने जाएंगे. आवेदन पत्र संभागीय आयुक्त कार्यालय, संबंधित विधायक या तीर्थयात्रा समिति के जरिए ऑनलाइन भरे जा सकेंगे और तीर्थ यात्रियों का चयन ड्रॉ निकालकर किया जाएगा.



loading...