देहरादून : स्विस बैंक की डीटेल छुपाने पर जूलरी शोरूम मालिक को 2 साल की जेल

दिल्ली में भारी बारिश की वजह से संसद भवन परिसर में भरा पानी, उत्तराखंड में बादल फटने से 2 की मौत

उत्तराखंड: चमोली में बरसी आसमानी आफत, बादल फटने से कई दुकानें और गाड़ियां क्षतिग्रस्त, भारी बारिश की चेतावनी

उत्तराखंड: पिथौरागढ़ में मूसलाधार बारिश से भारी नुकसान, हाइड्रो प्रोजेक्ट बहा, दर्जनों मकान ढहे

उत्तराखंड के पौड़ी-गढ़वाल में बस के गहरी खाई में गिरने से 48 की मौत, हादसे की असली वजह आई सामने

जनता दरबार में बुजुर्ग शिक्षिका ने मांगा ट्रांसफर, वाद-विवाद के बीच भड़के सीएम ने कर दिया सस्पेंड

यह अकेली लड़की पढ़ती है 250 लड़कों के बीच, इस वजह से लड़कियों के स्कूल में नहीं मिला एडमिशन

2017-04-18_not-disclosing-Swiss-Bank-account.jpeg

देहरादून के एक मशहूर ज्वेलरी शॉप ओनर को स्विस बैंक में अपना अकाउंट होने की जानकारी छिपाने के जुर्म मंे दो साल जेल की सख्त सजा सुनाई गई है। उसने यह जानकारी आईटी डिपार्टमेंट से छिपाई थी। 

चीफ ज्युडिशियल मजिस्ट्रेट की कोर्ट ने पंजाब ज्वेलर्स के ओनर राजू वर्मा पर 25000 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि 14 मार्च 2012 को पंजाब ज्वैलर्स के खिलाफ सर्च की कार्रवाई की गई। उस दौरान राजू ने जेनेवा में मौजूद अपने एचएसबीसी बैंक एकाउंट की जानकारी नहीं दी । इनकम टैक्स (आईटी) डिपार्टमेंट ने पाया कि राजू के बैंक अकाउंट में 92 लाख रुपए थे। बाद में उसे इनकम टैक्स एक्ट 1961 के सेक्शन 276 (1) (इरादतन टैक्स बचाना) और सेक्शन 277 (जांच में गलत बयान देना) के तहत दोषी पाया गया।

हालांकि, कोर्ट ने वर्मा को हायर कोर्ट में अपील के लिए एक महीने की जमानत दी है। इस मामले में 16 दूसरे आरोपियों को भी अरेस्ट किया गया है। आईटी डिपार्टमेंट को 2012 में शिकायत मिली थी कि वर्मा का स्विट्जरलैंड में पर्सनल अकाउंट है, जिसके बारे में उसने आईटी डिपार्टमेंट को नहीं बताया है। प्रॉसिक्यूशन ने कहा, "आईटी ऑफिशियल्स ने 14 मार्च 2012 को कर्जन रोड स्थित राजू के घर पर छापा मारा था था और बैंक डिटेल से जुड़े दस्तावेज बरामद किए।"



loading...