देहरादून : स्विस बैंक की डीटेल छुपाने पर जूलरी शोरूम मालिक को 2 साल की जेल

पुलवामा मुठभेड़ में शहीद हुए मेजर विभूति को आखिरी सलामी, ताबूत चूमकर पत्नी बोलीं I Love You

उत्तराखंड: देहरादून में तमसा नदी पर बना 100 साल पुराना पुल टूटने से 2 लोगों की मौत, 3 घायल

सुशांत सिंह राजपूत और सारा अली खान की फिल्म ‘केदारनाथ’ को बॉम्बे हाईकोर्ट से बड़ी राहत, याचिका रदद्, उत्तराखंड सरकार ने जांच के लिए बनाया पैनल

उत्तराखंड: उच्च न्यायालय ने नगर पालिकाओं-पंचायतों में 7 दिन के भीतर चुनाव प्रकिया शुरू करने के दिए आदेश

उत्तराखंड में अगले 24 घंटे भारी बारिश की चेतावनी, प्रशासन ने सतर्क रहने के दिए आदेश

गाय को राष्ट्रमाता घोषित करने वाला पहला राज्य बना उत्तराखंड, विपक्ष ने किया समर्थन

2017-04-18_not-disclosing-Swiss-Bank-account.jpeg

देहरादून के एक मशहूर ज्वेलरी शॉप ओनर को स्विस बैंक में अपना अकाउंट होने की जानकारी छिपाने के जुर्म मंे दो साल जेल की सख्त सजा सुनाई गई है। उसने यह जानकारी आईटी डिपार्टमेंट से छिपाई थी। 

चीफ ज्युडिशियल मजिस्ट्रेट की कोर्ट ने पंजाब ज्वेलर्स के ओनर राजू वर्मा पर 25000 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि 14 मार्च 2012 को पंजाब ज्वैलर्स के खिलाफ सर्च की कार्रवाई की गई। उस दौरान राजू ने जेनेवा में मौजूद अपने एचएसबीसी बैंक एकाउंट की जानकारी नहीं दी । इनकम टैक्स (आईटी) डिपार्टमेंट ने पाया कि राजू के बैंक अकाउंट में 92 लाख रुपए थे। बाद में उसे इनकम टैक्स एक्ट 1961 के सेक्शन 276 (1) (इरादतन टैक्स बचाना) और सेक्शन 277 (जांच में गलत बयान देना) के तहत दोषी पाया गया।

हालांकि, कोर्ट ने वर्मा को हायर कोर्ट में अपील के लिए एक महीने की जमानत दी है। इस मामले में 16 दूसरे आरोपियों को भी अरेस्ट किया गया है। आईटी डिपार्टमेंट को 2012 में शिकायत मिली थी कि वर्मा का स्विट्जरलैंड में पर्सनल अकाउंट है, जिसके बारे में उसने आईटी डिपार्टमेंट को नहीं बताया है। प्रॉसिक्यूशन ने कहा, "आईटी ऑफिशियल्स ने 14 मार्च 2012 को कर्जन रोड स्थित राजू के घर पर छापा मारा था था और बैंक डिटेल से जुड़े दस्तावेज बरामद किए।"



loading...