रेप के आरोपी दाती महाराज पर 67 बच्चियों को आश्रम में रखने का शक, होटल से लड़कियों को मुक्त कराया गया

जयपुर सेंट्रल जेल में पाकिस्तानी कैदी की पीट-पीट कर हत्या, बैरक में बंद अन्य कैदियों से हुआ था झगड़ा

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा- मोदी सरकार जवानों की सहादत को व्यर्थ नहीं जाने देगी

बीकानेर जमीन घोटाले में दूसरे दिन वाड्रा से ED की पूछताछ शुरू, प्रियंका वाड्रा ने कही ये बात

आरक्षण की मांग को लेकर पांचवे दिन भी गुर्जर समाज का आंदोलन जारी, रेल सेवा के साथ बस यातायात भी प्रभावित

राजस्थान में उग्र हुआ गुर्जर आंदोलन, रेलवे ट्रैक पर धरना जारी, झुकने को तैयार नहीं बैसला

राजस्थान: आरक्षण की मांग को लेकर दूसरे दिन भी गुर्जर समाज का आंदोलन जारी, 5 ट्रेनें रदद्, कई के रूट बदले

2018-07-05_rajasthan.jpg

शहर के सुभाषनगर पीर बावजी स्थानक के सामने होटल राजमहल में संचालित आश्रम से बुधवार दोपहर 67 लड़कियों को आजाद करवाकर बालिका गृह में भेजा गया. यह कार्रवाई बाल कल्याण समिति की ओर से की गई. समिति को सूचना मिली थी कि शिष्या से दुष्कर्म मामले में घिरे दाती मदन के आश्रम से रातों-रात गायब हुई बच्चियों को यहां लाया गया. बताया जा रहा है कि ये बालिकाएं कांकरोली के आध्यात्मिक गुरुमुख स्कूल की हैं और आश्रम में आध्यात्मिक पढ़ाई कर रही थीं. हालांकि, रजिस्ट्रेशन सहित अन्य दस्तावेज नहीं होने से आश्रम संचालक संदेह के घेरे में है. होटल संचालक की भूमिका भी शक के नजरिए से देखी जा रही है.

यह लड़कियां झारखंड, असम, मप्र, कर्नाटक, छत्तीसगढ़, दिल्ली के अलावा नेपाल की हैं. इन सभी ने अब तक यही बताया है कि वे माता-पिता की स्वीकृति से पढ़ाई के लिए आई हैं. कथित आश्रम में बच्चियों के अलावा आध्यत्मिक शिक्षिकाएं भी थीं. सभी लड़कियों को पन्नाधाय बालिका गृह ले जाया गया, जहां उनसे पूछताछ के बाद काउंसलिंग की गई.

बताया गया कि होटल को आश्रम बनाने के लिए इसकी छत से लेकर सभी बालकनियां पतरे लगाकर सील कर दी गई थीं, ताकि बाहर से कोई भी अंदर की गतिविधियां नहीं देख पाए. पुलिस-प्रशासन फिलहाल किसी नतीजे पर नहीं पहुंचे हैं, लेकिन होटल संचालक की भी भूमिका संदिग्ध मानी जा रही है. होटल में किशोरियों के होने को लेकर कोई एंट्री नहीं बताई गई. आश्रम से छुड़ाई गई बालिकाएं यहां आध्यत्मिक शिक्षा सहित ध्यान योग, प्राणायाम और अंग्रेजी का अध्ययन करती हैं.



loading...