ताज़ा खबर

गुजरात: प्रेम विवाह करने वाले दलित युवक की पुलिस के सामने ससुराल वालों ने की हत्या

गुजरात: बीजेपी में शामिल हुए कांग्रेस के पूर्व विधायक अल्पेश ठाकोर और धवलसिंह जाला, जीतू वाघानी ने दिलाई सदस्यता

गुजरात: ठाकोर समुदाय का तुगलकी फरमान, अविवाहित लड़कियों के मोबाइल रखने पर लगाई पाबंदी, पकड़े जाने पर देना होगा 1.5 लाख का जुर्माना

सुप्रीम कोर्ट से आसाराम को बड़ा झटका, सूरत रेप केस में जमानत याचिका खारिज

मानहानि मामले में राहुल गांधी को अहमदाबाद की अदालत से मिली जमानत, नोटबंदी को लेकर बैंक पर लगाए थे आरोप

गुजरात में कांग्रेस की बढ़ी मुश्किलें, अल्पेश ठाकोर, धवलसिंह जाला ने राज्यसभा उपचुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद विधायक पद से दिया इस्तीफा

राज्यसभा उपचुनाव: गुजरात की 2 सीटों के लिए मतदान जारी, शाम 4 बजे तक होगी वोटिंग

2019-07-10_GujaratKilling.jpg

गुजरात के अहमदाबाद में एक 25 साल के दलित युवक की उसके ऊंची जाति के ससुराल वालों ने पुलिस के सामने ही तलावरों, चाकुओं और डंडों से वार कर हत्या कर दी. यह घटना सोमवार शाम अहमदाबाद के वारमोर गांव की है. पुलिस के अनुसार, मृतक का नाम हरेश कुमार सोलंकी है जिसे उसकी पत्नी उर्मिला के घर के बाहर आठ लोगों ने मिलकर मार डाला. पुलिस का कहना है कि घटना के वक्त वहां महिला हेल्पलाइन टीम भी मौजूद थी. लेकिन हत्या में शामिल उन आठ में से किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हो पाई है. इस हत्या के मुख्य आरोपी उर्मिला के पिता दशरथसिन्ह जाला को बताया जा रहा है.

हत्या का कारण प्रेम विवाह बताया जा रहा है. कच्छ के गांधीधाम के रहने वाले सोलंकी की शादी उर्मिला जाला से करीब छह महीने पहले हुई थी. लेकिन मई महीने में ही उसके माता-पिता उसे वारमोर वापस ले आए थे. पुलिस के अनुसार, उर्मिला अभी दो महीने की गर्भवती है और लापता है.

जब सोलंकी को पता चला कि उर्मिला गर्भवती है, तो उसने 181 अभयम टीम की मदद से ससुराल वालों को समझाने की कोशिश की. अभयम 181 हेल्पलाइन खासतौर पर मुश्किल में फंसी महिलाओं की मदद लिए है. इसमें काउंसलर्स की टीम होती है. लेकिन सोलंकी के मामले में काउंसलर्स के साथ एक महिला कॉन्स्टेबल भी उसके ससुराल पहुंची थी.

पुलिस के अनुसार, जब काउंसलर उर्मिला के घरवालों को समझाने की कोशिश कर रही थी, उस वक्त सोलंकी घर के बाहर खड़ी एक सरकारी कार में बैठा था. सोलंकी के साथ जाने वाली काउंसलर भाविका ने पुलिस को बताया, 'काउंसलिंग करीब 20 मिनट तक चली. सोलंकी कार की अगली सीट पर ड्राइवर के साथ बैठा था. काउंसलिंग शाम करीब 7 बजे खत्म हुई. हम घर से बाहर निकल कर कार तक पहुंचे. उर्मिला के पिता दशरथसिन्ह भी वहां आठ लोगों के साथ पहुंच गए. उन लोगों ने सोलंकी को कार से बाहर खींचा और तलवारों, चाकूओं, डंडों और रॉड्स से उस पर वार करने लगे. उन्होंने अभयम की टीम पर भी हमला किया. हमने तुरंत पुलिस को कॉल किया.' 

पुलिस ने अपने एफआईआर में दशरथसिन्ह जाला को मुख्य आरोपी बनाया है. अहमदाबाद रूरल के एससी एसटी सेल के डिप्टी एसपी पीडी मानवर ने कहा, 'हमने आरोपियों को पकड़ने के लिए अलग-अलग टीमें बनाई हैं. उन्हें जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की पूरी कोशिश की जा रही है.



loading...