ताज़ा खबर

गुजरात में चक्रवाती तूफान ‘वायु’ से निपटने के लिए NDRF की 47 टीमें तैनात, 74 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया

2019-06-12_CycloneVayu.jpg

नेशनल डिजास्‍टर रिस्‍पॉन्‍स फोर्स (NDRF) ने चक्रवाती तूफान ‘वायु’ (Cyclonic Storm Vayu) के संभावित कहर से लोगों को बचाने के लिए अपनी 52 टीमों को गुजरात और दीव में तैनात कर दिया है. जिसमें 47 टीमों को गुजरात के एक दर्जन से अधिक तटीय क्षेत्रों में तैयार किया गया है, जबकि 5 टीमों को दीव में त्‍वरित कार्रवाई के लिए तैनात किया है.

एनडीआरएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, चक्रवाती तूफान वायु के चलते उत्‍पन्‍न होने वाली संभावित परिस्थितियों का आंकलन करने के बाद गुजरात के कच्‍छ, मोरबी, राजकोट, जामनगर, द्वारका, पोरबंदर, सोमनाथ, अमरेली, जुनागढ़, भावनगर, बडोदरा, वलसाड, सूरत और गांधी नगर में एनडीआरएफ की 47 टीमों को तैनात किया गया है. वहीं, किसी भी तरह की परिस्थितियों से निपटने के लिए 5 टीमों को दीव में तैनात किया गया है. 

एनडीआरएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि चक्रवाती तूफान ‘वायु’ की चपेट में आने वाले संभावित इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों में पहुंचाने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है. अब तक की कार्रवाई में करीब 74 हजार लोगों को तटीय क्षेत्रों से सुरक्षित स्‍थानों में पहुंचाया गया है. सुरक्षित स्‍थानों पर जिन लोगों को भेजा गया है, वे मोरबी, भावनगर, जुनागढ़, सोमनाथ, जाम नगर, दूवभूमि द्वारका, कच्‍छ, पोरबंदर, राजकोट और अमरेली जिलों के अंतर्गत आने वाले तटीय क्षेत्रों के रहने वाले हैं.

राहत-बचाव के लिए विख्‍यात इस बल के वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि एनडीआरएफ की सभी टीमें चक्रवाती तूफान ‘वायु’ के डेवलपमेंट पर कड़ी नजर बनाए हुए हैं. सभी संवेदनशील स्‍थानों में आवश्‍यक उपकरणों के साथ अतिरिक्‍त टीमों को तैनात किया गया है. इसके अलावा, एनडीआरएफ की टीमें लोगों को जागरूक करने में भी लगी हुईं है. जागरूकता अभियान के तहत लोगों को बताया जा रहा है कि चक्रवाती तूफान ‘वायु’ के आने के बाद उन्‍हें किन-किन बातों का ध्‍यान रखना है.


 



loading...