महज 10 सेकेंड में सीआरपीएफ के जवान हो गए सतर्क, बच गई 10 जवानों की जिंदगी

2017-10-31_crpf-jawan-india.jpeg

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में सीआरपीएफ के 10 जवान बाल-बाल बच गए. सीआरपीएफ के जवान तरेम मार्ग पर सर्चिंग में थे. पास में ही जगरगुंडा मार्ग पर सड़क निर्माण का काम चल रहा था, जहां पर नक्सलियों ने भारी-भरकम 3 आईईडी प्लांट किए हुए थे. आईईडी की चपेट में आने से पहले ही जवान सतर्क हो गए और सीआरपीएफ के 10 जवानों की जान बच गई.

बताया जाता है कि इलाका पहाड़ियों से घिरा हुआ है और बेहद खतरनाक है. अब तक यह पता नहीं चल पाया है कि आईईडी कब और किसने प्लांट किया था. अगर यह ब्लास्ट होता तो इससे सभी जवानों की जान जा सकती थी. यह आईईडी 14-14 किलो की थीं, जो किसी भी लैंडमाइन व्हीकल के परखच्चे उड़ाने के लिए काफी थे.

किस्मत ने जवानों का साथ दिया और वह आईईडी ब्लास्ट होने से महज 10 सेकेंड पहले ही जवान सतर्क हो गए. वरना सीआरपीएफ के 10 जवानों की मौत हो सकती थी.

वहीं दूसरी घटना कल्याण इलाके में हुई जहां सर्चिंग के दौरान प्रेशर आईईडी ब्लास्ट होने से डीआरजी का एक जवान जयमन कुड़ियामी घायल हो गया. लखापाल के पास जंगल में नक्सलियों द्वारा लगाई गई प्रेशर आईईडी की चपेट में डीआरजी का जवान आ गया. घायल जवान को निकालने के लिए अतिरिक्त फोर्स भेजी गई.



loading...