रेप का आरोपी दाती महाराज फरार, आश्रम में और भी बंधक लड़कियों को पुलिस ने छुड़ाया

छठ पूजा 2018: दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने जारी की एडवाइजरी, 13 और 14 नवंबर को इन रास्तों पर जाने से बचें

सीबीआई ने घूस लेने के आरोप में दिल्ली सरकार के जीएसटी असिस्टेंट कमिश्नर जितेंद्र जून को किया गिरफ्तार

सिग्नेचर ब्रिज संग्राम: भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने केजरीवाल और अमानतुल्लाह खान के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

त्यौहारों से पहले तेल की कीमतों कटौती जारी, दिल्ली में 14 पैसे प्रति लीटर पेट्रोल और 9 पैसे प्रति लीटर सस्ता हुआ डीजल

दिल्ली: सिग्नेचर ब्रिज उद्घाटन के दौरान आप के विधायक अमानतुल्लाह खान ने सांसद मनोज तिवारी तो स्टेज से दिया धक्का, विडियो वायरल

दिल्ली में खतरनाक स्तर पर पहुंचा प्रदूषण, वायु गुणवत्ता 700 के पार

2018-06-15_datimaharaj.jpg

बलात्कार के आरोपी और शनिधाम मंदिर के संस्थापक दाती महाराज राजस्थान के पाली आश्रम से फरार हो गया हैं. पुलिस ने उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया है. लुकआउट नोटिस जारी होने के बाद अब दाती महाराज देश छोड़कर भाग नहीं सकता है. पुलिस को शक था कि दाती महाराज देश छोड़ने की कोशिश में हैं. दाती महाराज कल अपने पाली के आश्रम में थे. पाली आश्रम में दाती महाराज ने पूरे दिन अपने समर्थकों से मुलाकात की. बताया जा रहा है कि दाती महाराज कल रात से ही अपने आश्रम से फरार हैं.

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने बृहस्पतिवार शाम असौला, दिल्ली स्थित शनिधाम में छापेमारी की. पुलिस ने यहां कई लोगों से पूछताछ की. दूसरी तरफ पीड़ित युवती ने एक बार फिर अपनी जान को खतरा बताया. हालांकि, स्थानीय थाना और दिल्ली पुलिस ने पीड़िता और उसके परिवार को सुरक्षा दे रखी है. अपराध शाखा के एक अधिकारी ने बताया कि बुधवार को स्नेहा ने बयान में बताया था कि शनि धाम में लड़कियों को बंधक बनाकर उनके साथ मारपीट भी की जाती है. वहीं, दिल्ली पुलिस ने बृहस्पतिवार को साकेत कोर्ट से दाती महाराज के असौला, छतरपुर स्थित शनिधाम में तलाशी लेने की अनुमति मांगी थी.

कोर्ट से अनुमति मिलने के बाद पुलिस ने बृहस्पतिवार शाम छापेमारी शुरू कर दी. जो कि देर रात तक जारी रही. शाखा के अधिकारी ने बताया कि शनिवार को उस जगह पर जाकर तफ्तीश की जाएगी जहां पीड़िता ने दुष्कर्म होने की बात कही थी. अधिकारियों के अनुसार,  टीम जल्द ही पाली, राजस्थान जाएगी. अधिकारियों का कहना है कि जैसे-जैसे तथ्य सामने आएंगे. उसी हिसाब से आगे की कार्रवाई की जाएगी.

अपराध शाखा के अधिकारियों का कहना है कि इस पत्र की जांच की जाएगी. साथ ही यह भी पता लगाया जाएगा कि दाती महाराज ने स्नेहा से शपथ पत्र और पिता से ऐसा पत्र क्यों लिखवाया. बता दें कि पिता के पत्र पर अंगूठा लगा हुआ है.



loading...