ताज़ा खबर

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद वापस दिल्ली भेजे गए, घाटी के दौरे पर पहुंचे थे जम्मू

जम्मू-कश्मीर: हाजीपुर सेक्टर में पाकिस्तान ने किया सीजफायर का उल्लंघन, भारत की जवाबी कार्यवाही में 2 पाक रेंजर्स ढेर

जम्मू-कश्मीर: किश्‍तवाड़ में PDP जिलाध्‍यक्ष के PSO की राइफल छीनकर भागे आतंकी, इलाके में लगाया गया कर्फ्यू

जम्मू कश्मीर में बड़ी आतंकी साजिश नाकाम, कठुआ में AK-47 समेत 3 आतंकी गिरफ्तार

जम्मू-कश्मीर: सोपोर में सेना को बड़ी कामयाबी, मुठभेड़ में लश्कर ए तैयबा के शीर्ष कमांडर को किया ढेर

पाक पर भारत की एक और सर्जिकल स्ट्राइक, लीपा वैली में आतंकियों के लांचिंग पैड किए तबाह

जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में 4.9 की तीव्रता से आया भूकंप, घरों से बाहर निकले लोग

2019-08-20_GhulamNabiAzad.jpeg

कांग्रेस सांसद और राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद को मंगलवार को जम्मू एयरपोर्ट पर रोकने के बाद वापस दिल्ली भेज दिया गया है. दरअसल, जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के हटने के बाद विपक्षी पार्टियों के विरोध के सुर तेज हो गए हैं. इसी क्रम में गुलाम नबी आजाद ने दोबारा जम्मू-कश्मीर के लोगों से मिलने की कोशिश की है.

आपको बता दें कि इससे पहले कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद और जम्मू-कश्मीर के कांग्रेस अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर को श्रीनगर एयरपोर्ट से दिल्ली लौटा दिया गया था. जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद से विपक्ष वहां जाने के लिए परेशान हैं, लेकिन केंद्र सरकार सुरक्षा के लिहाज और शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए किसी भी नेता को वहां जाने दे रही है.

वहीं, सोमवार को जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद ने आर्टिकल 370 हटाने को केंद्र सरकार का गलत निर्णय करार देते हुए इसे वापस लेने की बात की. यही नहीं, एक कदम आगे बढ़ते हुए उन्होंने 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' के सुर में सुर मिलाते हुए कहा कि सुरक्षा बल नौजवानों को घर से जबरन उठाकर उन्हें टॉर्चर कर रहे हैं.
 



loading...