सीएम मनोहर पर्रिकर बीमार, गोवा में कांग्रेस ने सरकार बनाने का दावा किया पेश, BJP ने किया खारिज

गोवा: मंत्री ने कहा- मनोहर पर्रिकर को सीएम पद से इस्तीफा देने से बीजेपी हाईकमान ने रोका

गोवा: कैंसर से जंग लड़ रहे सीएम मनोहर पर्रिकर के इस्तीफे के लिए सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने निकाला मार्च, 48 घंटे का दिया समय

गोवा के स्वास्थ्य मंत्री विश्वजीत राणे की राहुल गांधी को चुनौती, कहा- कांग्रेस को बर्बाद कर दूंगा

गोवा में कांग्रेस को बड़ा झटका, भाजपा में शामिल हुए दयानंद सोपटे और सुभाष शिरोडकर शिरोडा

सीएम मनोहर पर्रिकर ने एम्स में बुलाई कैबिनेट की बैठक, मंत्रिमंडल में फेरबदल के आसार

जीएसएम के अध्यक्ष सुभाष वेलिंगकर ने कहा- आज के समय में भगवान राम को भी चुनाव जीतने के लिए पैसे का इस्तेमाल करना पड़ता

2018-09-17_goacongress.jpg

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का इलाज देश की राजधानी दिल्ली के एम्स में चल रहा है वहीं गोवा में भारी राजनीतिक हलचल हो रही है. आज कांग्रेस के कई विधायक सरकार बनाने की मांग के साथ राज्यपाल मृदुला सिन्हा के पास  राज भवन पहुंचे। लेकिन उनकी मुलाकात गवर्नर से नहीं हो सकी है. इसलिए वह राजभवन में एक चिट्ठी सौंप आए हैं. प्रदेश कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष चंद्रकात कावलेकर ने कहा कि राज्य में 18 महीने के अंदर ऐसी स्थिति उत्पन्न न हो सके कि चुनाव हो इसलिए ऐसी किसी भी परिस्थिती से निपटने के लिए हमने राज्यपाल को मेमोरेंडम सौंपा है. उन्होंने कहा कि राज्य की जनता ने हमें पांच साल के लिए चुना है. अगर मौजूदा सरकार ठीक से काम नहीं कर पा रही है तो हमें सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए.

कावलेकर ने कहा कि हम राज्य की सबसे बड़ी पार्टी हैं. उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि देखिए आज सरकार किस तरह से काम कर रही है. प्रदेश में राज्य सरकार होते हुए भी न के बराबर है. हमारे पास सरकार बनाने की संख्या है इसलिए हम सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं. 

गोवा विधानसभा में 40 विधानसभा सीटें हैं. 2017 में हुए चुनाव के हिसाब से बीजेपी सरकार के पास निर्दलीय और अन्य पार्टियों के समर्थन से 24 सीटें हैं जो सरकार बनाने के लिए जरूरी 21 सीटों से 3 सीटें ज्यादा हैं. जबकि कांग्रेस गोवा 16 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी है, बीजेपी के पास 14 सीटें हैं. गोवा में भारतीय जनता पार्टी ने महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी, गोवा फॉरवर्ड पार्टी और निर्दलीयों के साथ मिलकर सरकार का गठन किया है.

गोवा में चल रही भारी हलचल को देखते हुए एक ओर जहां भाजपा में असंतोष का माहौल बना हुआ है वहीं विधानसभा के उपाध्यक्ष एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता माइकल लोबो ने  कहा कि पार्टी के दूत गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) और महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) को सुझाव दें रहे हैं कि वे भाजपा का हिस्सा बन जाएं. जिससे पार्टी की स्थिति राज्य में मजबूत हो जाए. उन्होंने कहा कि अगला मुख्यमंत्री कौन होगा, कौन प्रभार संभालेगा और अन्य संबंधित चीजों को भी देखा जाएगा.  लोबो ने कहा, फिलहाल हमारा ध्यान सदन में भाजपा का संख्याबल 14 से बढ़ाकर 17 करने पर है उन्होंने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव रामलाल और बी एल संतोष यहां पहुंच चुके हैं.
आपको बता दें कि पिछले बुधवार से गोवा में जोड़-तोड़ की राजनीति पर काम चल रहा है. कांग्रेस गोवा के प्रवक्ता एवं विधायक दयानंद सोप्ते ने कहा था कि भाजपा के तीन विधायक पर्रिकर नीत सरकार को गिराने के लिए पार्टी में शामिल होने के लिए कांग्रेस के संपर्क में है. उन्होंने हालांकि विधायकों के नाम बताने से इनकार कर दिया.

सोप्ते ने कहा कि यदि तीन विधायक आ गये तो संख्या कांग्रेस के पक्ष में हो जायेगी. उन्होंने कहा कि यदि आप संख्या देखें तो कांग्रेस के 40 सदस्यीय सदन में 16 विधायक हैं. यदि भाजपा के तीन विधायक हमारे साथ आ जाते है तो हमारी संख्या 19 हो जायेगी. सत्तारूढ़ भाजपा के 14 विधायक हैं. जब इस संबंध में भाजपा की गोवा इकाई के अध्यक्ष विनय तेंदुलकर से संपर्क किया गया तो उन्होंने सोप्ते के दावे को खारिज किया. सत्तारूढ़ भाजपा ने तत्काल राजनीतिक हालात का जायज लेने के लिए सोमवार को एक बैठक बुलाई. बैठक के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता राम लाल ने कहा कि गोवा सरकार स्थिर है और नेतृत्व में परिवर्तन की कोई मांग नहीं उठी है.



loading...