ताज़ा खबर

सेमीफाइनल में हार के बाद महेंद्र सिंह धोनी के बैटिंग ऑर्डर पर पहली बार बोले कोच रवि शास्त्री

2019-07-12_RaviShastri.jpg

ICC वर्ल्ड कप में न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में जब टीम इंडिया मझधार में फंसी हुई थी, तो महेंद्र सिंह धोनी को नंबर चार पर खेलने के लिए क्यों नही भेजा गया. इसकी बात देश के हर एक चौराहे, पान दुकान और चाय के साथ चर्चा का विषय बना हुआ है. धोनी के नंबर चार पर नहीं आने के राज से अब पर्दा उठ गया है. टीम के हेड कोच रवि शास्त्री ने इसके बारे में खुलासा करते हुए कहा है कि, यह पूरी टीम का फैसला था कि धोनी नीचे खेले.

मीडिया से बात करते हुए शास्त्री ने धोनी के बैटिंग ऑर्डर का बचाव करते हुए कहा है कि अगर धोनी पहले आउट हो जाते तो टीम चेज करने में फंस जाती. शास्त्री ने कहा कि, 'यह फैसला पूरी टीम का था और एक आसान फैसला भी था. अगर धोनी पहले बैटिंग के लिए आते और वह जल्दी आउट हो जाते तो फिर लक्ष्य का पीछा करने का सारा खेल ही बिगड़ जाता.

हमें उनके अनुभव की बाद में जरूरत थी. वह दुनिया के सबसे बड़े फिनिशनर हैं और यदि हम उनका इस्तेमाल सही समय पर नहीं करते तो फिर उनके साथ और टीम के साथ भी न्याय नहीं होता. शास्त्री ने इस बात को स्वीकार किया कि नंबर चार पर एक मजबूत बल्लेबाज के नहीं होने से मध्य क्रम कमजोर हुआ और लगातार इसका टीम को नुकसान हुआ.

क्या मयंक अग्रवाल के ओपनर के रोल में केएल राहुल को नंबर चार पर सेमीफाइनल में आजमाया जा सकता था? इसपर उन्होंने कहा कि राहुल नंबर चार पर ही बल्लेबाजी कर रहे थे, लेकिन शिखर धवन के चोटिल होने की वजह से उन्हें पारी की शुरुआत करने की कमान संभालनी पड़ी, लेकिन आप एक बल्लेबाज का इस तरह से बैटिंग ऑर्डर बदलते हैं, तो वह तंग हो जाते हैं, राहुल के साथ भी यह समस्या होने लगी थी.



loading...