सीएम योगी ने नाराज रामदेव को मनाया, अब यूपी में ही बनेगा पतंजलि फूड पार्क

उत्तर प्रदेश के मेरठ में रिश्तों को शर्मसार करने वाली घटना, 2 सगे भाइयों ने अपनी सगी बहन के साथ 4 साल तक किया रेप

भारतीय सेना का जवान जासूसी के आरोप में मेरठ छावनी से गिरफ्तार, पूछताछ में किया बड़ा खुलासा

लखनऊ में आशीष पांडेय की गिरफ्तारी के लिए ताबड़तोड़ छापेमारी, कई गेस्ट हाउस और होटल में दिल्ली पुलिस का छापा

अब प्रयागराज के नाम से जाना जाएगा इलाहाबाद, योगी कैबिनेट ने दी मंजूरी

विवेक तिवारी हत्याकांड: योगी सरकार ने कल्पना तिवारी को लखनऊ नगर निगम का OSD बनाया

उत्तर प्रदेश के रायबरेली में बड़ा रेल हादसा, पटरी से उतरी न्यू फरक्का एक्सप्रेस, 7 की मौत, यह हैं एमरजेंसी नंबर

2018-06-06_ramdev.jpg

यूपी के सीएम योगी ने योगगुरु रामदेव को मना लिया है. पतंजलि फ़ूड पार्क यूपी में ही बनेगा. इससे पहले पतंजलि आयुर्वेद के एमडी व पतंजलि योगपीठ के सह संस्थापक आचार्य बालकृष्ण द्वारा यमुना एक्सप्रेस वे (नोएडा) पर प्रस्तावित पतंजलि फूडपार्क को यूपी के बाहर ले जाने के एलान से सरकार में हड़कंप मच गया. हालांकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामदेव से बात कर मामले को आगे बढ़ने से रोक लिया है. सीएम ने अधिकारियों को कैबिनेट की अगली बैठक में ही इससे जुड़े प्रस्ताव को पेश करने का निर्देश दिया.

प्रदेश सरकार ने पतंजलि आयुर्वेद कंपनी को यमुना एक्सप्रेस वे पर 465 एकड़ जमीन फूड और हर्बल पार्क की स्थापना के लिए दी थी. पतंजलि की ओर से यमुना एक्सप्रेस वे अथारिटी को इस जमीन में से 50 एकड़ जमीन केंद्र की योजना के अनुसार फूड पार्क के लिए ट्रांसफर करने का आग्रह किया था. चूंकि कंपनी को जमीन का आवंटन कैबिनेट से हुआ था, इसलिए उससे किसी हिस्से का अलग हस्तांतरण भी कैबिनेट से ही हो सकता है.

इस बीच मंगलवार को बालकृष्ण ने यह कहकर हड़कंप मचा दिया कि प्रदेश सरकार की उदासीनता के कारण केंद्र सरकार ने मेगा प्रोजेक्ट रद्द कर दिया गया है. यह भी कहा कि पतंजलि ने प्रोजेक्ट को अलग ले जाने का फैसला कर लिया है. बालकृष्ण के एलान को सीएम ने बेहद गंभीरता से लिया और तत्काल बाबा रामदेव से बात की. उन्होंने अगली कैबिनेट बैठक में ही भूमि हस्तांतरण से जुड़ी अनुमति की कार्रवाई कराए जाने की जानकारी दी. इधर शासन के अधिकारियों ने यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के प्रस्ताव पर 50 एकड़ जमीन हस्तांतरण की अनुमति कैबिनेट से लेने की कार्रवाई शुरू कर दी है.

मामले पर अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त डॉ. अनूप चंद्र पांडेय का कहना है, पतंजलि के मेगा फूड पार्क का आवंटन निरस्त नहीं हुआ है. प्रदेश सरकार जमीन हस्तांतरण से जुड़ा निर्णय कैबिनेट की अगली बैठक में कर लेगी. पतंजलि से जुड़े मामले में समस्या का समाधान हो गया है.



loading...