ताज़ा खबर

UP: प्रयाग कुम्भ के दौरान बंद रहेंगी चमड़ा फैक्ट्री, CM योगी का आदेश

गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण के विधेयक पर योगी कैबिनेट की मुहर, सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में आरक्षण होगा लागू

अवैध खनन मामले में IAS बी.चन्द्रकला और सपा नेता समेत 4 को ED का समन

यूपी: ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर घने कोहरे के चलते आपस में टकराए 50 वाहन, 30 से ज्यादा लोग घायल

प्रयागराज कुंभ: सपरिवार सहित गंगा आरती में शामिल हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, लोगों को दी शुभकामनाएं

उत्तर प्रदेश के लखनऊ, नोएडा, मेरठ, हापुड़, मुरादाबाद के अस्पतालों और डाक्टरों के आवास पर आयकर विभाग का छापा

'लखनऊ गेस्‍टहाउस कांड' पर शिवपाल यादव ने कहा- बहनजी ने मुझ पर यौन शोषण का आरोप लगाया था

2018-05-17_YogiAdityanath.jpg

देश के सबसे बड़े सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने अगले साल होने वाले प्रयाग कुभ 2019 के लिए तीन माह तक टेनरियों को बंद करने का आदेश दिया है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगले साल होने वाले प्रयाग कुम्भ के मद्देनजर गंगा को साफ रखने के के लिए निर्मल जलधारा सुनिश्चित की जाए. 

गुजरे बुधवार को शास्त्री भवन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बैठक में हिस्सा लिया. जिसमें उन्होंने कानपुर की टेनरी की हटाने, अमृत, स्मार्ट सिटी एवं नमामि गंगे परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की. कानपुर के जाजमऊ में मौजूदा समय में इस क्षेत्र में 264 टेनरी काम कर रही हैं, जबकि 136 टेनरियां बन्द हो चुकी हैं.

जाजमऊ के वर्तमान सीईटीपी को यदि उच्चीकृत किया जाता है तो इस पर अनुमानित लागत 554 करोड़ रुपये आयेगी. यह भी सुझाव दिया गया कि इस सीईटीपी को रमईपुर में स्थापित किये जा रहे नवीन मेगा लेदर क्लस्टर में स्थानान्तरित किया जा सकता है.

प्रयाग के मद्देनजर उन्होंने आदेश दिये कि सभी टेनरियों को 15 दिसम्बर, 2018 से 15 मार्च, 2019 तक बन्द रखा जाए. साथ ही यह सुनिश्चित किया जाए कि गढ़मुक्तेश्वर से लेकर काशी तक गंगा में किसी भी प्रकार का कचरा अथवा अपशिष्ट नहीं गिरे, जिससे कि कुम्भ के दौरान साधु-सन्तों तथा स्नानार्थियों को स्वच्छ एवं निर्मल जलधारा स्नान के लिए मिल सके.



loading...