ताज़ा खबर

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस में घमासान जारी, अशोक गहलोत ने सचिन पायलट पर फोड़ा बेटे की हार का ठीकरा

राजस्थान बोर्ड 10वीं का रिजल्ट जारी, 79.85% छात्र हुए पास, सीएम अशोक गहलोत ने दी शुभकामनाएं

अलवर गैंगरेप पीड़िता से राहुल गांधी ने की मुलाकात, न्याय का दिया भरोसा

राजस्‍थान के करौली में पीएम मोदी ने कहा- पाकिस्तान की हेकड़ी निकल गई, अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित किए जाने से कांग्रेस परेशान

राजस्थान के बीकानेर में नाल एयरफोर्स स्टेशन के पास मोर्टार बम मिलने से हड़कंप, जांच में जुटी पुलिस

पीएम मोदी के समर्थन में बयान देकर फंसे राजस्थान के राज्‍यपाल कल्‍याण सिंह, चुनाव आयोग ने राष्‍ट्रपति को लिखी चिट्ठी

राजस्थान में बीजेपी को लगा झटका, 7 बार विधायक रहे दिग्गज नेता देवी सिंह भाटी ने पार्टी से दिया इस्तीफा

2019-06-04_GehlotandPilot.jpg

कांग्रेस को लोकसभा चुनाव में राजस्थान में मिली करारी शिकस्त के बाद राज्य में अंतर्कलह बढ़ती ही जा रही है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को कहा कि प्रदेश कांग्रेस कमिटी के मुखिया और राज्य के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट उनके बेटे की हार के जिम्मेदारी है. वैभव गहलोत जोधपुर लोकसभा सीट से चुनाव हार गए हैं. उन्हें भाजपा के गजेंद्र सिंह शेखावत ने 2.74 लाख वोटों से शिकस्त दी. इसी लोकसभा के अंतर्गत सरदारपुरा विधानसभा सीट आती है जहां से गहलोत विधायक हैं.

पायलट ने गहलोत के बयान पर हैरानी जताई है लेकिन कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में जब अशोक गहलोत से पूछा गया कि क्या यह सच है कि पायलट ने जोधपुर सीट से वैभव का नाम प्रस्तावित किया था. इसके जवाब में गहलोत ने कहा, 'यह अच्छी बात है कि अगर उन्होंने (पायलट) ऐसा किया. मीडिया हम दोनों के बीच मतभेद दिखाती है. पायलट साहब ने कहा था कि वह जोधपुर से बहुत बड़े अंतर से जीतेगा क्योंकि हमारे छह विधायकों को इस लोकसभा सीट से जीत हासिल हुई थी. हमारा चुनाव प्रचार भी बढ़िया था. इसलिए मुझे लगता है कि उन्हें इस सीट की जिम्मेदारी लेनी चाहिए. यह पता लगाया जाना चाहिए कि हम यहां क्यों हारे.'

जब गहलोत से पूछा गया कि क्या उन्हें सच में लगता है कि जोधपुर में मिली हार के लिए पायलट जिम्मेदार हैं तो उन्होंने कहा, 'पायलट ने कहा था कि हम जोधपुर जीतने वाले हैं और उन्होंने वैभव के लिए पार्टी का टिकट लिया. लेकिन हम सभी 25 सीटें हार गए. यदि कोई कहता है कि मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमिटी को जिम्मेदारी लेना चाहिए तो मुझे लगता है कि यह सामूहिक जिम्मेदारी है.' गहलोत का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब कुछ दिनों पहले ही पायलट के समर्थकों ने कहा था कि मुख्यमंत्री के काम करने के रवैये के कारण हमें राज्य में हार मिली है.



loading...