ताज़ा खबर

अब दिल्ली में मेट्रो और डीटीसी बसों में महिलाओं को नहीं देना होगा किराया, सीएम अरविंद केजरीवाल ने किया ऐलान

केजरीवाल के मुफ्त मेट्रो सफर को पूर्व प्रबंध निदेशक ई. श्रीधरन ने बताया नुकसानदायक, PM मोदी को लिखा खत

दिल्ली के भारत नगर इलाके में बुजुर्ग भाई-बहन की मौत, हार्ट अटैक से मौत की आशंका

दिल्ली-NCR में बदला मौसम का मिजाज, कई जगह तेज हवाओं के साथ हल्की बूंदाबादी, देर शाम हो सकती है बारिश

केजरीवाल सरकार का अपने पूर्व मंत्री संदीप कुमार के खिलाफ नरम रुख, रेप केस में अब तक चार्जशीट दाखिल करने की नहीं दी इजाजत

दिल्ली मेट्रो और डीटीसी बसों में महिलाओं को मुफ्त में सफर, आज सीएम अरविंद केजरीवाल कर सकते हैं घोषणा

केजरीवाल के मुस्लिम वोटर वाले बयान पर शीला दीक्षित का पलटवार, कहा- लोग जिसे चाहें उसे दे सकते हैं वोट

2019-06-03_ArvindKejriwal.jpg

लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद अब विधानसभा चुनाव को नजर में रखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दो बड़े फैसलों का ऐलान किया है. एक तो पूरी दिल्ली को सीसीटीवी कैमरा की निगाह में लाया जाएगा. दूसरे डीटीसी बसों और मेट्रो में महिलाएं मुफ्त में यात्रा कर सकेंगी. हालांकि मेट्रो औऱ बस की सब्सिडी किसी पर थोपी नहीं जाएगी. यह अलग बात है कि इस ऐलान के बाद दिल्ली सरकार पर 1200 करोड़ रुपए का बोझ पड़ेगा. इन कदमों को अगले दो-तीन महीने में ही अंजाम दिया जा सकेगा. इसके लिए अधिकारियों को पूरा ब्योरी तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं.

अरविंद केजरीवाल ने मीडिया को बताया कि दिल्ली सरकार अच्छे काम करती आ रही है. इसके लिए किसी खास मुहूर्त की दरकार नहीं होती है. अभी दिल्ली सरकार के पास 700 करोड़ रुपए का कोष बाकी है. इससे दिल्ली के हित में और फैसले लिए जाएंगे. परिवहन सेवा को और मजबूत बनाने के लिए दिल्ली को तीन हजार बसों को सौगात और मिलेगी. सरकार की मंशा दिल्ली के लोगों को हर तरह की सुविधाएं देनी की है.

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार महिलाओं की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देती है. इसके लिए पिछले ढाई साल से पूरी दिल्ली को सीसीटीवी की जद में लाने के प्रयास हो रहे थे. अब पूरी दिल्ली में कैमरे लगाने का टेंडर पास हो गया है. फिलहाल दिल्ली के स्कूलों में 1.5 लाख कैमरे लगाने को काम जोर-शोर से जारी है. इसके अलावा 8 जून से पूरी दिल्ली में कैमरे लगने शुरू कर दिए जाएंगे. कुल 2.5 लाख कैमरे दिल्ली भर में लगाए जाएंगे. इसके लिए सर्वेक्षण कर टेंडर भी पास कर दिए गए हैं.

माना जा रहा है कि दिल्ली में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने महिला मतदाताओं को लुभाने के लिए ही यह बड़ा कदम उठाया है. इस योजना के लागू होने से दिल्ली सरकार पर प्रति वर्ष 1200 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा. आपको बता दें कि दिल्ली की लगभग 35 फीसदी महिलाओं मेट्रो और बसों से सफर करती हैं.



loading...