सीएम केजरीवाल और मनीष सिसोदिया ने राबिया स्कूल का लिया जायजा, कहा- दोषियों पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी

2018-07-12_kejriwalrabiaschool.jpg

दिल्ली के स्कूल में बच्चियों को बंधक बनाने के मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शिक्षा विभाग से रिपोर्ट तलब की है. उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने स्कूल प्रशासन को नोटिस दिया है. वहीं स्कूल का जायजा लेने सीएम केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया पहुंचे. यहां केजरीवाल स्कूल प्रशासन और अभिभावकों से मिले. स्कूल से निकलते वक्त उन्होंने बताया कि पुलिस के साथ ही दिल्ली सरकार भी इस मामले की जांच करेगी. केजरीवाल ने प्रिंसिपल को चेतावनी देते हुए कहा कि जो हुआ वो सहन नहीं किया जाएगा. उन्होंने दोषियों के खिलाफ हरसंभव कार्रवाई का विश्वास भी दिलाया. यह भी पढ़ें: दिल्ली के स्कूल में शर्मनाक घटना, फीस न देने पर बच्चियों को तहखाने में 5 घंटे तक बंद किया

इससे पहले आज सुबह स्कूल के बाहर पूर्व छात्राओं और स्थानीय लोगों ने स्कूल के खिलाफ कोई एक्शन न लेने की अपील की है. पूर्व छात्राओं का कहना है कि बच्चों को बंद नहीं रखा गया था. जहां बच्चे थे वो एक्टिविटी एरिया है और वहां पंखे से लेकर हर तरह की सुविधा है. वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि गलती स्कूल प्रशासन की है, उनके खिलाफ कार्रवाई हो लेकिन स्कूल बंद न किया जाए. यह भी पढ़ें: बुराड़ी कांड: गुमनाम चिट्ठी से एक और चौकाने वाला खुलासा, तांत्रिक के पास जाता था परिवार

उधर, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस मसले पर शिक्षा विभाग के सचिव और शिक्षा निदेशक से मुलाकात की. उन्होंने मामले की पूरी रिपोर्ट मांगी है. इससे पहले, मुख्यमंत्री ने बुधवार सुबह ट्वीट किया कि वह और उपमुख्यमंत्री बृहस्पतिवार सुबह 10 बजे स्कूल जाएंगे. उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि यह बेहद हैरान करने वाला मामला है. इतने छोटे बच्चों से तो फीस भी लेनी चाहिए, लेकिन स्कूल प्रशासन ने उन्हें बंधक बनाया.

राबिया गर्ल्स पब्लिक स्कूल की 59 छात्राओं को तहखाने में बंधक बनाने के मामले में मध्य जिले के हौजकाजी थाने की पुलिस ने बच्चियों को जबरन बंधक बनाने और जेजे एक्ट की धारा 75 के तहत मामला दर्ज किया है. पुलिस की पूछताछ में स्कूल प्रशासन ने दावा किया कि जिस जगह बच्चियों को रखा गया था, वह तहखाना नहीं,  एक्टिविटी रूम है. बच्चों को बंधक नहीं बनाया गया था, बल्कि एक्टिविटी रूम में भेज दिया गया था. वहां पंखे व बाकी सुविधाएं मौजूद थीं. पुलिस अधिकारियों ने स्कूल में लगे सभी सीसीटीवी कैमरों का ब्योरा लिया. वहीं तहखानानुमा बेसमेंट के कथित एक्टिविटी रूम की भी पड़ताल की गई. 



loading...