पुलवामा हमले में शामिल आतंकी था 10वीं का छात्र, पिता हैं पुलिस कॉन्स्टेबल

2018-01-01_terror-attack-in-jk-jk-police-sub-inspector.jpg

दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में सीआरपीएफ के एक शिविर पर रविवार को भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों ने फिदायीन हमला किया जिसमें अर्द्धसैन्य बल के पांच जवान शहीद हो गये. पहली बार स्थानीय आतंकवादियों ने फिदायीन हमला किया है. हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान से संचालित आतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद ने ली है. सीआरपीएफ के प्रवक्ता राजेश यादव ने बताया कि दो आतंकवादियों की पहचान द्रूबगाम (पुलवामा) के मंजूर अहमद बाबा और नजीमपुरा(त्राल) के फरदीन अहमद खानडे के तौर पर हुयी. खानडे एक मौजूदा पुलिसकर्मी का बेटा है और  ख़बरों के अनुसार वह 10वीं का छात्र था. फरदीन के पिता जम्मू-कश्मीर पुलिस में कॉन्स्टेबल हैं.

यादव ने बताया कि शहीद जवानों में हमीरपुर (हिमाचल प्रदेश) से निरीक्षक कुलदीप राय, राजौरी (जम्मू कश्मीर) से हेड कांस्टेबल तौफील अहमद, बडगाम (जम्मू कश्मीर) में चांदीपुरा से कांस्टेबल शरीफुद्दीन गनी, चुरू (राजस्थान) के कांस्टेबल राजेंद्र नैन और सुंदरगढ (ओडिशा) के कांस्टेबल पी के पांडा हैं. उन्होंने कहा कि गोलीबारी के दौरान दिल का दौरा पड़ने से राय की मौत हो गयी जबकि चार अन्य गोलियों के शिकार हुए.

उन्होंने कहा कि घायल जवानों में कांस्टेबल नरेंद्र कुमार, मलाम समाधान और माला राम हैं. उन्होंने कहा, ‘‘एक या दो आतंकवादी अभी भी छिपे हुए हैं लेकिन गोलीबारी रूक गयी है। सुरक्षा बल अभी भी तलाश अभियान चला रहे हैं . ’’ सीआरपीएफ के एक अन्य अधिकारी ने बताया, ‘‘रात करीब दो बजे भारी हथियारों से लैस आतंकवादी शिविर में घुस आये. वे अंडर बैरल ग्रेनेड लांचर और स्वचालित हथियारों से लैस थे.’’ आतंकवादियों ने अंधाधुंध गोलीबारी की जिसमें सीआरपीएफ के तीन जवान घायल हो गए. पुलिस महानिदेशक एस पी वैद ने बताया कि सुरक्षा बलों को पिछले तीन दिनों से कश्मीर घाटी में आतंकी हमले के बारे में खुफिया सूचनाएं मिल रही थी. हमले को ‘‘दुर्भाग्यपूर्ण’’ बताते हुए वैद ने कहा ‘‘पिछले दो-तीन दिनों से खुफिया सूचनाएं थी. वे (आतंकी) मौके की ताक में थे. शायद उन्हें पहले घुसने का मौका नहीं मिला. इसलिए उन्होंने रात को हमला किया .’’ शिविर में कश्मीर घाटी में आतंकवाद विरोधी अभियानों के मुकाबले के लिए जवानों को शामिल करने के लिए प्रशिक्षण केन्द्र भी चलाया जा रहा है.

इस शिविर में जम्मू कश्मीर पुलिस की एक टीम भी स्थित है.



loading...