औरंगाबाद: पानी को लेकर भिड़े दो गुटों में हिंसक झड़प, 1 की मौत, धारा 144 लागू

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा- अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए कानून बनाए मोदी सरकार

मुंबई: छत्रपति शिवाजी एयरपोर्ट पर एयर इंडिया की एयर होस्टेस विमान से गिरी, हालत गंभीर

मुंबई: हाईकोर्ट ने सास-ससुर से गाली-गलौज करने वाली बहू को सुनाया घर से निकल जाने का आदेश

फैशन डिजाइनर सुनीता सिंह की हत्या के मामले में बेटे ने किया खुलासा, कहा- पिता की आत्मा से प्रभावित थी मां

महाराष्ट्र के नासिक में पत्नियों से परेशान होकर 100 पतियों ने उनके जिन्दा होने पर ही कराया पिंडदान, सरकार से की यह मांग

भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में सुप्रीमकोर्ट ने 19 सितंबर तक बढ़ाई आरोपी कार्यकर्ताओं की नजरबंदी

2018-05-12_Section-144-imposed.jpg

महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर के करंजा इलाके में शुक्रवार-शनिवार देर रात मामूली विवाद के बाद दो गुटों में हिंसक झड़प हुई। दोनों ओर से की गई फायरिंग और पथराव में एक शख्स की मौत हो गई। 15 पुलिसकर्मी गंभीर रूप से जख्मी हो गए। उपद्रवियों ने पुलिस के 6 वाहनों में तोड़फोड़ की और कुछ दुकानों में आग लगा दी। स्थिति को काबू करने के लिए पुलिस ने हवाई फायरिंग की और आंसू गैस के गोले छोड़े। तनाव को देखते हुए करंजा इलाके में धारा 144 लगा दी गई। मौके पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।

पिछले करीब एक हफ्ते से महानगर पालिका रविवार बाजार से मोती कारंजा के बीच अवैध नल कनेक्शन काटने की मुहिम चला रही है। कई धार्मिक स्थलों के नल कनेक्शन भी काटे गए हैं। एक धर्म विशेष से जुड़े लोगों का आरोप है कि उन्हें जान बूझकर निशाना बनाया जा रहा है। इसी बात को लेकर शुक्रवार देर रात दो गुटों में विवाद हो गए। वे तलवारें लेकर सड़कों पर आ गए। अचानक दोनों ओर से पथराव शुरू हो गया।

जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन दोनों गुटों ने उनकी गाड़ियों पर भी पथराव शुरू कर दिया, जिसमें 15 पुलिसकर्मी जख्मी हो गए। उनके 6 वाहनों में तोड़फोड़ की गई। हालात काबू करने के लिए पुलिस ने पहले आंसू गैस के गोले छोड़े और उसके बाद हवाई फायरिंग की। इलाके में क्विक रिस्पॉन्स टीम (क्यूआरटी) और स्ट्राइकिंग फोर्स समेत शहर के लगभग सभी थानों की फोर्स तैनात की गई है।उस्मानाबाद से भी पुलिस टीम को बुलाया गया है।



loading...