ताज़ा खबर

विडियो: छतरपुर में भिड़े कांग्रेस और बीजेपी कार्यकर्ता, एक-दूसरे पर लगाते रहे आरोप-प्रत्यारोप

कर्नाटक-गोवा संकट के बीच मध्यप्रदेश में अलर्ट हुई कांग्रेस, बंद कमरे में सीएम-डिप्टी सीएम ने की मुलाकात

मध्यप्रदेश में गौ-तस्करी के शक में 20 लोगों को पकड़ा, ग्रामीणों ने रस्सी से बांधकर पीटा, ‘गौ-माता की जय’ के लगवाए नारे

पीएम मोदी की नाराजगी के बाद भाजपा ने विधायक आकाश विजयवर्गीय को भेजा कारण बताओ नोटिस

मध्यप्रदेश: बैट कांड पर कैलाश विजयवर्गीय ने नगर निगम अधिकारी और बेटे को बताया कच्चा खिलाड़ी

मध्यप्रदेश: लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद इस्तीफा देना चाहते थे सीएम कमलनाथ

इंदौर में लगे 'सैल्यूट आकाश जी' के पोस्टर, पिटाई से चोटिल अफसर ICU में भर्ती, नगर निगम ने हटाए

2017-06-08_Protest-held-in-MP.jpg

छतरपुर नगर सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के अंतर्गत महल रोड के पास कांग्रेस एवं भाजपा के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गये. मामला मंदसोर में पुलिस फायरिंग में मारे गए किसानों को लेकर है. कांग्रेस ने इस मामले को लेकर  छतरपुर बंद का आहवान किया था. जबकि भाजपा के कुछ कार्यकर्ताओं ने इसका विरोध किया.  

इस बीच किसी बात को लेकर करीब 10:30 बजे दोनों पार्टियों के कार्यकर्ता लड़ाई करने लगे. आपको बता दें कांग्रेस का कहना है कि कांग्रेस कार्यकर्ता सही ढंग से अपना प्रदर्शन कर रहे थे कि तभी बीच में बीजेपी पार्टी के कुछ कार्यकर्ता सड़कों पर आ गए औऱ कांग्रेस द्वारा किये जाने वाले प्रदर्शन में रुकावट डालने की कोशिश करने लगे.
 
तो वहीं दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने बताया कि कांग्रेस के लोगों ने व्यापारियों की जबर्दस्ती दुकाने बंद कराईं और हाथा-पाई की. इतना ही नहीं जब बीजेपी कार्यकर्ता माहौल शांत करवा रहे थे तो कांग्रेस के सदस्यों ने भारतीय जनता पार्टी के 5 कार्यकर्ताओंको मारा-पीटा भी.
 
इसी विवाद के प्रति आज बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ उनके पार्टी के सहयोगी ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा. वहीँ कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा जिला कलेक्ट्रेट पहुंचकर कलेक्टर महोदय को ज्ञापन दिया गया.
 
 जहाँ करीब 2 घण्टे तक चलने वाले इस ड्रामे में  कांग्रेस के कार्यकर्ता गांधी चौक पर धरने पर बैठे नज़र आए. वहीँ भाजपा के कार्यकर्ता सिटी कोतवाली के सामने कांग्रेसियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग को लेकर अड़े हुये नज़र आए.
 
इसी बाबत राज्य मंत्री ललिता यादव भी सिटी कोतवाली पहुँची. इस घटना में प्रशासनिक अधिकारियों में अपर कलेक्टर दी.के. मौर्या,  एस डीएम द्विवेदी, सीएसपी लक्ष्मण अनुरागी मौके पर मौजूद रहे  और लोगों को समझाने का प्रयास करते रहे.
 
छतरपुर से अरविन्द कुमार मिश्रा की रिपोर्ट.



loading...