कश्मीर पर पाकिस्तान को चीन की नसीहत, भारत के साथ संबंध खराब न करें, तनाव बढ़ाने से बचें

2019-08-09_PakChina.jpg

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने से बौखलाया पाकिस्तान दुनिया भर से समर्थन जुटाने की भीख मांग रहा है. इस क्रम में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी चीन भी गए, लेकिन वहां से भी उन्हें टका सा जवाब मिला. साथ ही चीन ने पाकिस्तान को सलाह दी है कि वह भारत के साथ संबंध खराब नहीं करे. साथ ही ऐसा कोई कदम नहीं उठाए जिससे क्षेत्र की शांति व्यवस्था खतरे में पड़े. इसके पहले अमेरिका भी पाकिस्तान को इसी मसले पर बड़ा झटका दे चुका है.

कश्मीर मसले पर चीन का समर्थन जुटाने के लिए पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी बीजिंग दौरे पर आए हुए हैं. उनके साथ पाकिस्तान के विदेश सचिव सोहैल महमूद भी हैं. हालांकि पाकिस्तान की इस मुहिम को बड़ा झटका देते हुए चीन ने उसे संयम से काम लेने और एकतरफा फैसले लेने से बचने की सलाह दी है. चीन ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि पाकिस्तान भारत से संबंध सुधारने की दिशा में काम करे, ना कि संबंध बिगाड़ने की. इसके लिए जरूरी होगा कि पाकिस्तान भारत के साथ तनाव कम करे और बेवजह के बयानों और कदमों से बाज आए.

पाकिस्तान के मीडिया के अनुसार चीन जाने से पहले कुरैशी ने कहा, 'चीन ना केवल पाकिस्तान का मित्र है, बल्कि क्षेत्र का एक महत्वपूर्ण देश भी है. मैं कश्मीर में भारत सरकार द्वारा उठाए असंवैधानिक कदमों से चीनी नेताओं को अवगत कराऊंगा. मैं उन्हें मानवाधिकारों के घोर उल्लंघन के बारे भी जानकारी दूंगा.' हालांकि पाकिस्तान के इस प्रयासों को चीन ने बड़ा झटका दिया है. एक तरह से चीन का यह रुख पाकिस्तान को आगाह करता है कि जम्मू-कश्मीर भारत का अंदरूनी मामला है और इसमें पड़कर वह अपनी साख को दांव पर नहीं लगाएगा.



loading...