बुलंदशहर हिंसा मामले में सीएम योगी ने की पीएम मोदी से मुलाकात

पुलवामा हमले में यूपी के जवान शहीद, राज्य सरकार एक व्यक्ति को नौकरी और 25-25 लाख रुपए देगी

अमर सिंह ने कहा- खनन घोटालों में कोई एक्शन ना हो इसलिए मुलायम सिंह ने की पीएम मोदी की तारीफ

मुलायम सिंह के बयान से दुखी हुए आजम खान, कहा- बहुत दुःख हुआ यह सुनकर, बीजेपी ने पोस्टर लगाकर कहा थैंक्यू

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया किस वजह से अखिलेश यादव को एयरपोर्ट पर रोका गया

खत्म हुआ प्रियंका का रोड शो, राहुल और सिंधिया के साथ कांग्रेस दफ्तर पहुंची

पीएम मोदी ने वृंदावन में अक्षय पात्र के बच्चों को परोसा भोजन, कहा- विकसित देश के लिए शक्तिशाली और पोषित बचपन का होना जरूरी

2018-12-07_ModiYogi.jpg

बुलंदशहर में कथित गौकशी की खबर के बाद भीड़ की हिंसा में एक पुलिसकर्मी समेत दो लोगों की मौत की घटना की पृष्टभूमि में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की. सूत्रों के मुताबिक, सीएम ने मौजूदा घटनाक्रम से पीएम मोदी को अवगत कराया.

जानकारी के मुता‍बिक, उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री शाम को दिल्ली पहुंचे और सीधे प्रधानमंत्री से मिलने गए. दोनों नेताओं के बीच क्या बातचीत हुई, इसके बारे में कुछ सामने नहीं आया है लेकिन उत्तर प्रदेश प्रशासन के सूत्रों ने बताया कि इसमें बुलंदशहर की घटना का जिक्र जरूर आयेगा. आपको बता दें कि सोमवार को बुलंदशहर के चिंगरावठी पुलिस चौकी पर कथित गौकशी की खबर के बाद भीड़ की हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह मारे गए थे. उधर, बताया गया है कि अपर पुलिस महानिदेशक (अभिसूचना) मामले की जांच कर राजधानी वापस आ गये है और अपनी रिपोर्ट जल्द ही उच्चाधिकारियों को सौपेंगे. आईजी (अपराध) एस के भगत ने बृहस्पतिवार की शाम पत्रकार वार्ता में बताया कि आईजी मेरठ के नेतृत्व में चार सदस्यीय एसआईटी टीम ने जांच का काम शुरू कर दिया है.

उधर, माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर बुलंदशहर में हुई भीड़ जनित हिंसा के दोषियों को बचाने और निर्दोषों को पकड़ने का आरोप लगाया है. येचुरी ने कहा कि भाजपा सांप्रदायिक ध्रुवीकरण को तेज करते हुए अपनी सबसे गंदी वोट बैंक की राजनीति खेल रही है ताकि सांप्रदायिक हिंदुत्व वोटबैंक को मजबूत कर सके जिससे चुनावी फायदा मिल सके. येचुरी ने बुलंदशहर हिंसा का जिक्र करते हुए कहा कि तमाम निजी सेनायें उभर कर सामने आयी है जिनके माध्यम से लोगों पर हमले हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में सरकार खुद अपने पुलिस अफसर को नहीं बचा पायी. हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय बिना सबूत एकत्र किये निर्दोष लोगों को पकड़ा जा रहा है.



loading...