ताज़ा खबर

पंजाब: सीएम अमरिंदर सिंह ने स्वीकार किया नवजोत सिंह सिद्धू का इस्तीफा, अंतिम फैसले के लिए गवर्नर को भेजा

लुधियाना सिटी सेंटर घोटाला मामले में सीएम अमरिंदर सिंह को बड़ी राहत, कोर्ट ने मुख्यमंत्री समेत 29 आरोपियों को किया बरी

Kartarpur Corridor Live: PM नरेंद्र मोदी ने जनता को समर्पित किया करतारपुर गलियारा, कहा- सौभाग्यशाली महसूस कर रहा हूं

करतारपुर कॉरिडोर Live: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेर साहिब गुरुद्वारे में टेका मत्था

गुरु नानक देव की 550 वीं जयंती के उपलक्ष्य में 1,303 भारतीय सिख श्रद्धालु करतापुर साहिब के लिए हुए रवाना

पंजाब के गुरदासपुर में पटाखा फैक्ट्री में धमाका, 18 लोगों की मौत, कई के मलबे में दबे होने की आशंका

पंजाब: हाईकोर्ट ने धार्मिक स्थलों पर बिना इजाजत के लाउडस्पीकर बजाने पर लगाई रोक

2019-07-20_AmrinderAndSidhu.jpg

पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के इस्‍तीफे को मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने मंजूर कर राज्‍यपाल के पास भेज दिया है. इससे पहले 15 जुलाई को नवजोत सिंह सिद्धू ने मंत्री पद से इस्‍तीफा मुख्‍यमंत्री अमरिंदर सिंह को भेज दिया था. पांच दिन बाद मुख्‍यमंत्री अमरिंदर सिंह ने इस पर फैसला लिया है. 14 जुलाई को नवजोत सिंह सिद्धू ने एक ट्वीट कर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भेजे गए अपने त्यागपत्र की जानकारी दी थी. ट्वीट किए गए इस पत्र में इस्तीफा देने की वजह नहीं बताई गई है. महज दो लाइनों में सिद्धू ने इस्तीफा देने की बात कही है.

सिद्धू के पास पहले स्थानीय स्वशासन विभाग था, मगर उनका विभाग बदलकर उन्‍हें ऊर्जा और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग दे दिया गया. हालांकि बंटवारे के बाद उन्होंने मंत्री पद का कार्यभार ग्रहण नहीं किया था और न ही मीटिंग में शामिल हुए थे. उसके बाद से लगातार सिद्धू को लेकर नाराजगी की अटकलें लगाई जा रही थीं जिनपर विराम लगाते हुए रविवार को उन्होंने खुद अपने इस्तीफे की पेशकश को सार्वजनिक कर दिया.

14 जून को नवजोत सिंह सिद्धू ने जो इस्‍तीफे की कॉपी शेयर की है, उस पर 10 जून की तारीख पड़ी है. इस्तीफे का लेटरहेड भी सिद्धू के पुराने विभाग का ही है. इसमें पूर्व क्रिकेटर ने कांग्रेस अध्यक्ष को संबोधित करते हुए महज दो लाइनों में लिखा है, 'मैं पंजाब कैबिनेट से मंत्री बतौर अपना इस्तीफा प्रेषित कर रहा हूं.'



loading...