छत्तीसगढ़: बीजेपी के मंत्री को भारी पड़ी EVM की पूजा, चुनाव आयोग ने भेजा नोटिस

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में 2 नक्सलियों को मार गिराया, बड़ी मात्रा में हथियार भी बरामद

छत्तीसगढ़: पूर्व सीएम अजित जोगी के बेटे अमित जोगी को पुलिस ने किया गिरफ्तार, चुनाव में फर्जीवाड़े का है आरोप

छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में 5 नक्सलियों को मार गिराया, एनकाउंटर जारी

छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में 7 नक्सलियों को मार गिराया, बड़ी मात्रा में हथियार भी बरामद

छत्तीसगढ़ के सुकमा में मुठभेड़, सुरक्षाबलों ने 1 नक्सली को मार गिराया, इंसास राइफल बरामद

छत्तीसगढ़ के धमतरी में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में 4 नक्सलियों को मार गिराया, बड़ी मात्रा में हथियार बरामद

2018-11-22_DyaldasBaghel.jpg

छत्तीसगढ़ में मतदान केंद्र में पूजा-पाठ करने के मामले में रमन सरकार के सहकारिता और पर्यटन मंत्री दयालदास बघेल बुरे फंस गए हैं. निर्वाचन आयोग ने दयालदास बघेल को नोटिस जारी कर गुरुवार तक जवाब मांगा है. बघेल नवागढ़ विधानसभा से भाजपा के प्रत्याशी हैं. उन्होंने 20 नवंबर को दूसरे चरण में वोटिंग से पहले कूरा के मतदान केंद्र में अगरबत्ती जलाकर ईवीएम का पूजा-पाठ किया था. कूरा बघेल का गृहनगर है.

बघेल ने मतदान केंद्र की परिक्रमा की और ईवीएम को टीका भी लगाया. फिर इवीएम को बकायदा प्रणाम किया. मतदान केंद्र के बाहर नारियल फोड़ा. इसके बाद उन्होंने वोट डाला. यह सब करते हुए उनके साथ मतदान केंद्र में बड़ी तादाद में समर्थक भी थे. उन्होंने इसकी वीडियो रिकार्डिंग भी कराई. तब तक मतदान केंद्र में पहुंचे दूसरे वोटर भी वोट नहीं डाल पाए.

बघेल के पूजा-पाठ करने के दौरान पीठासीन अधिकारी ने कोई आपत्ति भी दर्ज नहीं कराई. सीईओ सुब्रत साहू ने संज्ञान लेते हुए नवागढ़ के रिटर्निंग ऑफिसर बीएस उइके को भी नोटिस जारी किया है. इस मामले में जब दयालदास से बात करने की कोशिश की गई तो उनके तीनों मोबाइल स्विच ऑफ या आउट ऑफ कवरेज थे.

सूत्रों के मुताबिक बघेल का यह काम लोक प्रतिनिधित्व कानून और आईपीसी की धारा 171 के दायरे में आता है. लोक प्रतिनिधित्व कानून 1951 की धारा 126 के मुताबिक प्रचार थमने के बाद 48 घंटे की सीमा और मतदान वाले दिन केंद्र के भीतर कोई प्रत्याशी स्वयं का प्रचार नहीं कर सकता. वहीं,आईपीसी के तहत कोई व्यक्ति, प्रत्याशी या दल, किसी भी बूथ के 100 मीटर के दायरे में ना कोई भी धार्मिक अनुष्ठान करेगा न ही धार्मिक प्रतीक चिन्हों का प्रचार कर सकता है.

इस बीच मुंगेली विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी और राज्य मंत्री पुन्नूलाल मोहले का भी एक वीडियो सामने आया है. इसमें उनके पूजा करने का तरीका अजीब है. ऐसा बताया जा रहा है कि यह वीडियो मतदान करने जाने से पहले का है. वह मंदिर में पूजा कर रहे हैं. हालांकि, पार्टी के सदस्यों के मुताबिक वे इस तरीके से रोज पूजा करते हैं.



loading...