Chandrayaan 2: लैंडर को चांद की निचली कक्षा में उतारा गया, अब चंद्रमा से सिर्फ 35 किमी दूर

2019-09-04_Chandrayaaan.jpg

चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर को बुधवार तड़के 3:42 बजे फिर एकबार डि-ऑर्बिट किया गया. अब यह चंद्रमा की आखिरी कक्षा में पहुंच गया है. चांद से अब इसकी दूरी सिर्फ 35 किमी है. यहीं से यह इस उपग्रह की सतह पर उतरेगा. इससे पहले इसे मंगलवार सुबह 8:50 बजे डि-ऑर्बिट किया गया था. यह 7 सितंबर को चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेगा.

7 सितंबर की दरमियानी रात 1:40 बजे लैंडर चंद्रमा पर उतरना शुरु करेगा. यह प्रक्रिया करीब 15 मिनट की होगी. लैंडिंग के दो घंटे बाद तड़के 3:55 बजे लैंडर से रोवर बाहर निकलेगा. 5:05 बजे रोवर के सोलर पैनल खुलेंगे. 5:55 बजे रोवर चंद्रमा पर उतर जाएगा. रोवर के चंद्रमा पर उतरते ही वह लैंडर और लैंडर रोवर की सेल्फी लेगा जो उसी दिन 11 बजे के आसपास उपलब्ध होगी. इस योजना पर कुल 978 करोड़ रुपए की लागत आई है. 



loading...