पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान हिंसा पर EC का बड़ा फैसला, केंद्रीय सुरक्षाबलों को सौंपी कमान

सारदा चिटफंट घोटाला: सुप्रीम कोर्ट से पूर्व पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को बड़ा झटका, गिरफ्तारी पर लगी रोक हटाई

पश्चिम बंगाल में नहीं थम रही हिंसा, अब बीजेपी नेता मुकुल राय की गाड़ी पर पर हमला, केंद्रीय बलों की 800 कंपनियां तैनात

पश्चिम बंगाल: डायमंड हार्बर रैली में ममता बनर्जी ने कहा- 5 साल में पीएम एक राम मंदिर नहीं बनवा सके और विद्यासागर की मूर्ति बनवाना चाह रहे हैं

पश्चिम बंगाल: मथुरापुर रैली में पीएम मोदी ने ममता बनर्जी पर बोला हमला, कहा- दीदी अब खुलेआम धमकी दे रही हैं

ममता बनर्जी ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा- TMC के हिंसा में शामिल होने के सबूत दें, वरना जेल में डाल दूंगी

बंगाल हिंसा पर ममता को मिला मायावती का साथ, कहा- पीएम के दबाव में चुनाव आयोग ने घटाया समय

2019-05-01_Bengal.jpg

पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान होने वाली हिंसा को रोकने के लिए केंद्रीय सुरक्षाबलों को कमान सौंप दी गई है. मतदान केंद्रों पर पर्याप्त केंद्रीय सुरक्षाबल तैनात रहेंगे, जबकि ममता बनर्जी सरकार की राज्य पुलिस मतदान केंद्रों के बाहर सुरक्षा व्यवस्था संभालेंगे. चुनाव आयोग के निर्देशानुसार मतदान केंद्र के अंदर राज्य पुलिस और केंद्रीय बल, दोनों का प्रवेश निषेध रहेगा. मतदान केंद्र के पीठासीन पदाधिकारी को जरुरत महसूस होगी, तभी उनके बुलाने पर पुलिस बल अंदर जाएंगे.

पांचवे चरण के चुनाव के लिए केंद्रीय सुरक्षाबलों की कुल 578 कंपनियों की तैनाती तय कर दी गई है. पश्चिम बंगाल के स्पेशल पुलिस पर्यवेक्षक ने बताया कि इन कंपनियों के अलावा 142 क्विक रिस्पॉन्स टीम(QRT) भी तैनात रहेंगे, जो हिंसा की खबर पर तुरंत मौके पर पहुंचेंगे. 

आपको बता दें कि पिछले चार चरणों में हुए चुनाव के दौरान लगातार हिंसात्मक घटनाएं हो रही थी. इस पर भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग से मिला था और निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान के लिए हर हाल में केंद्रीय बलों की तैनाती सुनिश्चित कराने की मांग की थी. इसके बाद आयोग के दिशा निर्देश पर बुधवार को यह बड़ा फैसला लिया गया.
 
चौथे चरण के चुनाव के दौरान आसनसोल से भाजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को भीड़ ने घेर लिया था. उनकी गाड़ी पर भी हमला किया गया था. वहीं, बीरभूम में एक मतदान केंद्र में झड़प के दौरान हवाई फायरिंग भी की गई थी.


 



loading...