प्रद्युम्न हत्याकांड : हरियाणा पुलिस पर उठे सवाल, कॉल रिकॉर्ड की होगी जांच

2017-11-13_haryana54.jpeg

प्रद्युम्न ठाकुर मर्डर केस की जांच में CBI ने हरियाणा पुलिस के रोल पर गंभीर सवाल उठाए हैं. CBI सूत्रों के मुताबिक, मर्डर केस की जांच में हरियाणा पुलिस ने कई सबूतों को नजरअंदाज कर उन्हें मिटाने की कोशिश की. इसके बाद बगैर किसी पुख्ता आधार के कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार कर लिया. शक के घेरे में आए कुछ पुलिसवालों के कॉल रिकॉर्ड की जांच हो रही है. उनके खिलाफ डिपार्टमेंटल एक्शन लिया जा सकता है. बता दें कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर प्रद्युम्न (7 साल) की हत्या कर दी गई थी. CBI ने इस मामले में स्कूल के 11th क्लास के स्टूडेंट को गिरफ्तार किया है.

वहीं, रिमांड खत्म होने के बाद आरोपी स्टूडेंट को फरीदाबाद के जुवेनाइल होम में रखा गया है. यहां उसने शनिवार को पहली रात बेफिक्र होकर काटी. रात को 1 बजे तक वह टीवी पर 'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' देखता रहा. इससे पहले एक फिल्म भी देखी.

रात को साथी लड़कों ने उससे घटनाक्रम पूछने की कोशिश की, लेकिन वह किसी से घुलामिला नहीं. सुबह भी जल्द उठा. नहाने के बाद सभी लड़कों के साथ पूजा-अर्चना की. सुबह के नाश्ते में रोटी और आलू की सब्जी, दोपहर के खाने में दाल-चावल ही खाए. शाम को भोजन के साथ मिली खीर भी खाई.

साथियों ने रविवार को न्यूज चैनल लगाकर देखने की इच्छा जाहिर की, लेकिन हत्यारोपी स्टूडेंट बाहर चला गया. जब साथियों ने पूछा तो कुछ बोला नहीं. हालांकि बाद में सुपरिटेंडेट ने हिदायत जारी कि जब तक आरोपी न्यूज चैनल न देखना चाहे, तब तक उसकी पसंद का चैनल लगाए.

जुवेनाइल होम सुपरिटेंडेंट दिनेश यादव ने बताया कि प्रद्युम्न के हत्यारोपी को पियानो बजाने का शौक है. वह स्कूल में प्रार्थना के वक्त भी इसे बजाता था. उसने एक-दो साथियों से पियानो बजाने की बात कही है. संभव है कि जुवेनाइल होम में उसे सुबह की प्रेयर और शाम के वक्त की पूजा में पियानो बजाने की इजाजत दी जाए, लेकिन इससे पहले उसके लिए पियानो का बंदोबस्त करना होगा.



loading...