ताज़ा खबर

सारदा चिटफंड घोटाला मामले में कांग्रेस नेता पी चिदंबरम की पत्नी नलिनी चिदंबरम के खिलाफ सीबीआई ने दाखिल की चार्जशीट

NSA अजित डोभाल के बेटे विवेक डोभाल की याचिका पर कोर्ट ने लिया संज्ञान, 30 जनवरी को होगी सुनवाई

ईवीएम हैकिंग को लेकर कांग्रेस पर बीजेपी ने साधा निशाना, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पूछा, प्रेस कांफ्रेंस में कपिल सिब्बल क्या कर रहे थे

CBI मामला: अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर ने 20 अधिकारियों के किए तबादले, 2जी घोटाले की जांच करने वाला ऑफिसर भी शामिल

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- अनुच्छेद 35-A को चुनौती देने वाली याचिका पर जल्द बंद कमरे में होगी सुनवाई

पाकिस्तान ने करतारपुर कॉरिडोर पर तैयार किया ड्राफ्ट, समझौते को अंतिम रूप देने के लिए भारत को भेजा न्यौता

सामान्य वर्ग के गरीबों को 10 फीसदी आरक्षण पर हाईकोर्ट का मोदी सरकार को नोटिस, 18 फरवरी से पहले देना होगा जवाब

2019-01-12_NaliniChidambaram.jpg

सारदा चिटफंड घोटाला मामले में पूर्व वित्तमंत्री और कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम की पत्नी नलिनी चिदंबरम के खिलाफ सीबीआई ने आरोप-पत्र दाखिल कर दिया है. सीबीआई अधिकारियों ने शुक्रवार को नलिनी चिदंबरम के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी है. सीबीआई ने आरोप लगाया कि नलिनी ने चिटफंड घोटाले में शामिल सारदा ग्रुप ऑफ कंपनीज से 1.4 करोड़ रुपये प्राप्त किए थे. सीबीआई प्रवक्ता अभिषेक दयाल ने बताया कि आरोप है कि सारदा ग्रुप के मालिक सुदीप्त सेन और अन्य आरोपियों के साथ कंपनी के धन की धोखाधड़ी और हेराफेरी करने के इरादे से साजिश रचने में नलिSardha नी शामिल थीं.

रिपोर्ट के अनुसार सीबीआई प्रवक्ता का कहना है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री मतंग सिंह की पत्नी मनोरंजना सिंह ने सुदीप्त सेन को नलिनी चिदंबरम से मिलवाया था ताकि वह उसके खिलाफ सेबी, आरओसी जैसी विभिन्न एजेंसियों द्वारा जांच से निपट सकें और उसके लिए नलिनी ने 2010-12 के बीच सेन की कंपनियों से कथित तौर पर 1.4 करोड़ रुपये प्राप्त किए थे.

सीबीआई का कहना है कि कोलकाता की एक विशेष अदालत में चार्जशीट दाखिल की गई है. समूह ने लोगों को ब्याज दरों का लालच देकर 2500 करोड़ रुपये जुटाए थे, जिन्हें चुकाया नहीं गया. रिटर्न भरने में नाकाम रहने के बाद सेन ने 2013 में कंपनी का संचालन बंद कर दिया था. सारदा घोटाले में यह छठी चार्जशीट है जिसे 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्रीय जांच ब्यूरो को सौंपा था.

आपको बता दें कि नलिनी सुप्रीम कोर्ट की वकील हैं. पिछले वर्ष अप्रैल में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने सारदा मामले में नलिनी को नोटिस भेजा था. सुदीप्त सेन फिलहाल जेल में बंद है. पिछले वर्ष नलिनी ने ईडी द्वारा जारी के किए गए समन के खिलाफ मद्रास हाईकोर्ट में चुनौती भी दी थी जिसे अदालत ने खारिज कर दिया था.



loading...