ताज़ा खबर

PNB फ्रॉड मामले में CBI ने फाइल की पहली चार्जशीट, कई बैंक अधिकारियों के नाम शामिल

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा- अच्छा हिंदू नहीं चाहता अयोध्या में राम मंदिर बने, सुब्रमण्यम स्वामी ने कह दिया नीच आदमी

#MeToo: लपेटे में आए केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर ने प्रिया रमानी के खिलाफ दर्ज कराया मानहानि का केस

#MeToo: लपेटे में आए केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर को इस्तीफा देने का आदेश दे सकती हैं बीजेपी

पीएम मोदी ने पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों पर वित्त मंत्री अरुण जेटली और अन्य वरिष्ठ मंत्रियों संग की बैठक

पीएम मोदी 31 अक्तूबर को करेंगे सरदार वल्लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ का अनावरण

CJI रंजन गोगोई का नया फैसला, वर्किंग-डे पर जजों की छुट्टी पर लगाया बैन

2018-05-14_pnb-cbi.jpg

पीएनबी में 13 हजार करोड़ के फ्रॉड केस में सीबीआई ने सोमवार को मुंबई स्पेशल कोर्ट में पहली चार्जशीट दायर की। इसमें बैंक की पूर्व प्रमुख ऊषा अनंतसुब्रमण्यन और कुछ अन्य आला अधिकारियों के नाम शामिल हैं। ऊषा फिलहाल इलाहबाद बैंक की सीईओ और एमडी हैं। बता दें कि देश में बैंकिंग सेक्टर के सबसे बड़े फ्रॉड का खुलासा फरवरी की शुरुआत में हुआ था। जांच एजेंसियों ने हीरा कारोबारी नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चौकसी समेत अन्य को आरोपी बनाया था। केस दर्ज होने से पहले ही दोनों विदेश भाग गए थे।

डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल सर्विसेज के सचिव राजीव कुमार ने कहा, हमने पंजाब नेशनल बैंक और इलाहाबाद बैंक के तीन बोर्ड लेवल अफसरों को हटाने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। इनमें पीएनबी के दो ईडी अफसर और इलाहाबाद बैंक के एमडी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि इलाहाबाद बैंक जल्द ही बोर्ड मीटिंग बुलाकर सीबीआई चार्जशीट में शामिल चीफ मैनेजिंग डायरेक्टर के नाम पर चर्चा कर उनके अधिकार छीनने पर फैसला कर सकता है।

जांच एजेंसी ने फ्रॉड केस में मुख्य आरोपी नीरव मोदी के भाई निशाल मोदी और उसकी कंपनी के एग्जीक्यूटिव सुभाष परब की भूमिका का जिक्र भी किया है।हालांकि, चार्जशीट में मेहुल चौकसी की भूमिका की जानकारी नहीं दी गई। माना जा है कि सीबीआई गीतांजलि ग्रुप से जुड़े मामले की जांच के आधार पर दूसरी चार्जशीट में चौकसी का नाम शामिल कर सकती है।

बता दें कि ऊषा अनंतसुब्रमण्यन 2015 से 2017 तक पीएनबी की एमडी और सीईओ रह चुकी हैं। पीएनबी फ्रॉड के सिलसिले में सीबीआई उनसे पूछताछ कर चुकी है। सीबीआई की चार्जशीट में बैंक के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर केवी ब्रम्हाजी राव और संजीव शरण का नाम भी है। इसके अलावा जनरल मैनेजर (इंटरनेशनल ऑपरेशन) नेहल अहद को भी आरोपी बनाया गया है।

पीएनबी में फ्रॉड की शुरुआत मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच में 2011 से हुई। फ्रॉड फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स (एलओयू) के जरिए किया गया। आरोपियों ने बैंक अफसरों के साथ मिलकर फर्जी एलओयू तैयार किए और 2011 से 2018 तक हजारों करोड़ की रकम विदेशी अकाउंट्स में ट्रांसफर की।

 13 हजार करोड़ के फ्रॉड का खुलासा फरवरी के पहले हफ्ते में हुआ। पंजाब नेशनल बैंक ने सेबी और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को 11,356 करोड़ रुपए के घोटाले की जानकारी दी। बाद में पीएनबी ने सीबीआई को बैंक में 1300 करोड़ के नए फ्रॉड की जानकारी दी। इस तरह यह रकम बढ़कर करीब 13 हजार करोड़ तक पहुंच गई।



loading...