मोदी कैबिनेट में बड़ा फेरबदल: छीना स्मृति इरानी से एक बार से बड़ा विभाग, राज्यवर्धन को सौंपी गयी सूचना मंत्रालय की कमान

भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या की मुश्किलें बढ़ी, ब्रिटेन की अदालत ने 6 महंगी कारें बेचने का दिया आदेश

यूपी और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी का 93 साल की उम्र में निधन, दिल्ली के मैक्स हॉस्पिटल में ली आखिरी सांस

UIDAI ने 90 करोड़ लोगों को दी राहत, नहीं बंद होंगे आधार से जारी हुए मोबाइल नंबर

#MeToo के लपेटे में आए एमजे अकबर कोर्ट में नहीं हुए हाजिर, 31 अक्टूबर को दर्ज करायेंगे बयान

भारतीय नौसेना को मिली नई ताकत, अब गहरे पानी में भी कर सकेगी बचाव कार्य

पीएम मोदी की महत्वाकांक्षी बुलेट ट्रेन परियोजना के लिए 1 साल में 1 हेक्टेयर जमीन का भी नहीं हुआ अधिग्रहण

2018-05-15_piyushandsmrity.jpg

सोमवार रात को ही PM कैबिनेट में कई बड़े बदलाव किये गये. एक बार फिर से  स्मृति ईरानी से सूचना एवं प्रसारण का जिम्मा वापस ले लिया गया है, उनके स्थान पर राज्यवर्धन राठौड़ ये पदभार संभालेंगे. मंत्रालय में राठौड़ को स्वतंत्र राज्यमंत्री का दर्जा दिया गया है. पीयूष गोयल को रेलवे के साथ वित्त मंत्रालय का जिम्मा भी सौंपा गया है. अरुण जेटली के अस्वस्थ होने के कारण ये जिम्मेदारी दी गयी है.

टेलिकॉम एवं पेयजल मंत्रालय में राज्यमंत्री के पद पर रहे एसएस अहलूवालिया को सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय में राज्यमंत्री का पद सौंपा गया है. वे अल्फोंस कननथनम की जगह लेंगे.बता दें कि इससे पहले मोदी कैबिनेट में पिछले साल सितंबर में बदलाव किए गए थे. तब निर्मला सीतारमण को रक्षा मंत्री और पीयूष गोयल को रेलमंत्री बनाया गया था.

आपको बता दें ऐसा दूसरी बार है, जब स्मृति से हाई प्रोफाइल मंत्रालय वापिस लिया गया हो. 2014 में मोदी सरकार बनने के बाद उन्हें मानव संसाधन मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गयी थी. उसके बाद, 2016 में दलित छात्र रोहित वेमुला आत्महत्या और जेएनयू जैसे विवाद उठने के बाद उन्हें कपड़ा मंत्रालय दिया गया. 

चर्चा थी कि उन्हें सूचना-प्रसारण मंत्रालय दिया जाएगा. इसी वजह से उन्होंने कान फिल्म समारोह में जाने का अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया था. जबकि, इससे पहले उन्होंने कहा था कि उनके साथ आठ लोगों का भारतीय प्रतिनिधिमंडल भी फ्रांस फिल्म महोत्सव में शामिल होने जाएगा.



loading...