मुंबई: 1000 करोड़ के मनी लांड्रिंग केस में सीए गिरफ्तार

संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा- अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए कानून बनाए मोदी सरकार

मुंबई: छत्रपति शिवाजी एयरपोर्ट पर एयर इंडिया की एयर होस्टेस विमान से गिरी, हालत गंभीर

मुंबई: हाईकोर्ट ने सास-ससुर से गाली-गलौज करने वाली बहू को सुनाया घर से निकल जाने का आदेश

फैशन डिजाइनर सुनीता सिंह की हत्या के मामले में बेटे ने किया खुलासा, कहा- पिता की आत्मा से प्रभावित थी मां

महाराष्ट्र के नासिक में पत्नियों से परेशान होकर 100 पतियों ने उनके जिन्दा होने पर ही कराया पिंडदान, सरकार से की यह मांग

भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में सुप्रीमकोर्ट ने 19 सितंबर तक बढ़ाई आरोपी कार्यकर्ताओं की नजरबंदी

2018-04-28_ed254.jpg

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मुंबई के चार्टड अकाउंटेंट (सीए) दिनेश जाजोदिया को 1000 करोड़ रुपये की 'मनी लॉन्ड्रिंग' के कथित आरोप में गिरफ्तार किया है. दिनेश जाजोदिया को प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग ऐक्ट (पीएमएलए) के तहत मुंबई स्थित उसके कार्यालय से गिरफ्तार किया गया. उस पर विदेशों में गैरकानूनी रूप से धन को इधर-उधर ले जाने का कथित आरोप है. जानकारों के अनुसार , इस लॉन्ड्रिंग में अन्य लोगों के भी शामिल होने का आरोप है.

जाजोडिया यूएई, हांग कांग और ब्रिटिश विर्जिन आइलैंड स्थित अनेक कंपनियों में निदेशक और अधिकृत अधिकारी था. इसके विरुद्ध विदेशी मुद्रा परिवर्तनीय बॉन्ड की कथित लॉन्ड्रिंग की जांच चल रही थी और ये बॉन्ड करीब 1000 करोड़ रुपये के थे.

वह इस समय भारत में जियोडेसिक लि. का कर-सलाहकार और प्रैक्टि्स से सीए है. ईडी का कहना है कि उसने लंदन की सिटी बैंक की सहायता से 12.50 करोड़ रुपये बांड द्वारा जमा करवाए थे और इसके लिए उसने एक ट्रस्टी का काम किया था. 

इन बॉन्ड की परिपक्वता का समय आया तो जियोडेसिक इन बॉन्ड का पुन: भुगतान नहीं कर सकी. इस तरह उस पर आरोप है कि उसने अनेक 'शेल' या फर्जी कंपनियों की मदद से एक आपराधिक षडयंत्र रचा और कई निवेशकों को नुकसान पहुंचाया है.
 



loading...