रोज होगी वीभत्स कठुआ गैंगरेप-मर्डर केस की सुनवाई, पंजाब के पठानकोट में: सुप्रीम कोर्ट का आदेश

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने 3 आतंकियों को किया ढेर, सेना का 1 जवान शहीद, सर्च ऑपरेशन जारी

जम्मू-कश्मीर में स्थानीय निकाय चुनाव में चौथे चरण के लिए वोटिंग जारी, इन्टरनेट सेवा बंद, मैदान में 150 उम्मीदवार

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों पर आतंकियों ने ग्रेनेड से किया हमला, सेना के 2 जवान घायल, सर्च ऑपरेशन जारी

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी, मुठभेड़ में मारा गया एएमयू का पूर्व छात्र मन्ना न वानी

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, 3 आतंकी छिपे होने की खबर

जम्मू-कश्मीर में स्थानीय निकाय चुनाव में दूसरे चरण की वोटिंग जारी, इन्टरनेट सेवा बंद, मैदान में 1029 उम्मीदवार

2018-05-07_KAthuaRapecasetrasferred.jpg

देश की सबसे घिनौने कठुआ गैंगरेप और मर्डर की सुनवाई अब फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी और अब से ये केस पंजाब के पठानकोट कोर्ट में चलेगा. सर्वोच्च अदालत ने सोमवार को प्रख्यात गैंगरेप और मर्डर की स्थानांतरित करने का निर्देश दिया है. अदालत ने कठुआ मामले में किसी देरी से बचने के लिए दैनिक आधार पर फास्ट ट्रैक सुनवाई करने का निर्देश दिया. 

आपको बता दें कि मामले की सुनवाई चंडीगढ़ स्थानांतरित करने को लेकर दायर पीड़िता के पिता की अर्जी और मामले की जांच की जिम्मेदारी CBI को सौंपने के आग्रह को लेकर दायर आरोपियों की पिटीशन पर प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अगुवाई वाली कमेटी ने सुनवाई करते हुए ये फैसला लिया है.

सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर सरकार की जांच एजेंसी पर भरोसा जताते हुए मामले की सीबीआई जांच कराने से इनकार कर दिया. पीड़िता के परिवार ने सीबीआई जांच का विरोध किया था. मामले की पूरी सुनवाई की प्रक्रिया कैमरा के सामने होगी. अगली सुनवाई 9 जुलाई को होगी. सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर सरकार को पठानकोट कोर्ट में सरकारी अभियोजक की नियुक्ति करने की अनुमति दी और सरकार से पीड़ित के परिवार, उनके वकील और गवाहों को सुरक्षा देने के लिए कहा.

मामले में पीड़ित के परिजनों और उसके मामले की पैरवी कर रही वकील की सुरक्षा बरकरार रहेगी.



loading...