ताज़ा खबर

मध्यप्रदेश: राहुल गांधी ने पीएम मोदी के खिलाफ फिर किया आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल

मध्यप्रदेश में राहुल गांधी ने कहा- नोटबंदी भारत के इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला

मध्यप्रदेश: विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी का बड़ा फैसला, 53 बागियों को पार्टी से किया निष्कासित

मध्यप्रदेश: कांग्रेस के विधायक सुंदरलाल तिवारी ने आरएसएस को बताया आतंकवादी संगठन

मध्यप्रदेश: विधानसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर बीजेपी में घमासान जारी, गोविंदपुरा से लड़ने पर अड़े बाबूलाल गौर

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने जारी की 177 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, 3 मंत्रियों समेत कई विधायकों के टिकट काटे

मध्यप्रदेश: शिवराज सिंह चौहान ने कहा- अगर सरदार पटेल प्रधानमंत्री होते तो पाकिस्तान के पास कश्मीर का एक-तिहाई हिस्सा भी नहीं होता

2018-10-30_RahulGandhi.jpg

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्यप्रदेश दौरे पर एक बार फिर से पीएम नरेंद्र मोदी के लिए आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया. कांग्रेस अध्यक्ष ने मंगलवार को खरगौन में एक रैली के दौरान बीजेपी के चुनावी नारों पर जमकर निशाना साधा. राहुल ने कहा कि पहले पीएम नारा लगाते थे 'अच्छे दिन' और जनता कहती थी कि 'आएंगे'. इसके बाद ये नारा 'सूट, बूट की सरकार' में बदल गया. फिर ये नारा 'सूट, बूट और झूठ की सरकार' हो गया. और अब नया नारा है 'सूट, बूट, झूठ और लूट की सरकार'

राहुल गांधी ने रैली के दौरान जनता को संबोधित करते हुए कहा कि इंदौर किसी भी मामले में मुंबई से कम नहीं है. अगर आप अमेरिका जाएं और लोगों से भारत के 4-5 शहरों के नाम पूछें तो, वे बैंग्लुरु, हैदराबाद, दिल्ली और मुंबई बताएंगे. लेकिन इंदौर नहीं. उन्होंने कहा कि 5 साल बाद आप अमेरिका जाएंगे तो, इंदौर का नाम भी उस लिस्ट में जुड़ जाएगा. राहुल ने कहा कि कांग्रेस इस काम को करके दिखाएगी. भोपाल के लिए भी कांग्रेस ऐसे ही प्रयास करेगी.

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश दौरे के दूसरे दिन राहुल गांधी ने अपने उस बयान को लेकर सफाई भी दी थी जिसमें उन्होंने सीएम शिवराज सिंह चौहान और उनके बेटे कार्तिकेय पर पनामा पेपर्स के मामले में निशाना साधा था. एक जन सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने सफाई देते हुए कहा कि 'बीजेपी में इतना भ्रष्टाचार है कि मैं कन्फ्यूज हो गया था. मध्य प्रदेश के सीएम ने पनामा नहीं बल्कि उन्होंने तो व्यापमं और ई-टेंडरिंग घोटाला किया है.

आपको बता दें इससे पहले राहुल गांधी के बयान पर मध्यप्रदेश सीएम शिवराज सिंह चौहान और उनके बेटे इस मामले पर नाराजगी जाहिर कर चुके हैं. यहां तक कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तो राहुल गांधी पर मानहानि का मुकदमा करने की बात भी कही है. सीएम शिवराज ने ट्वीट के जरिए राहुल गांधी पर मानहानि का मुकदमा करने की बात कही है. वहीं उनके साथ ही उनके बेटे कार्तिकेय ने भी राहुल गांधी से दो दिन के भीतर अपने शब्द वापस लेने की बात कही है.

राहुल गांधी ने इंदौर में अपने चुनावी दौरे में पनामा पेपर और व्यापमं घोटाले की बात करते हुए कहा था कि 'कुछ धनी लोगों के काले धन को सफेद करने के लिए ही 2016 में नोटबंदी की गई थी. एक मुख्यमंत्री 'मामाजी' के बेटे का नाम भी पनामा पेपर्स में आया था, लेकिन उनके खिलाफ आज तक कोई कार्यवाई नहीं की गई. नवाज शरीफ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री का नाम निकलता है तो पाकिस्तान जैसा देश उन्हें जेल में डाल देता है, लेकिन जब यहां के मुख्यमंत्री के बेटे का नाम पनामा पेपर्स में निकला तो कोई कार्यवाई नहीं की गई.



loading...