ताज़ा खबर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- भाजपा पुराने दोस्तों से दोस्ती निभाती है, तमिलनाडु में गठबंधन के दिए संकेत

NSA अजित डोभाल के बेटे विवेक डोभाल की याचिका पर कोर्ट ने लिया संज्ञान, 30 जनवरी को होगी सुनवाई

ईवीएम हैकिंग को लेकर कांग्रेस पर बीजेपी ने साधा निशाना, केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पूछा, प्रेस कांफ्रेंस में कपिल सिब्बल क्या कर रहे थे

CBI मामला: अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर ने 20 अधिकारियों के किए तबादले, 2जी घोटाले की जांच करने वाला ऑफिसर भी शामिल

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- अनुच्छेद 35-A को चुनौती देने वाली याचिका पर जल्द बंद कमरे में होगी सुनवाई

पाकिस्तान ने करतारपुर कॉरिडोर पर तैयार किया ड्राफ्ट, समझौते को अंतिम रूप देने के लिए भारत को भेजा न्यौता

सामान्य वर्ग के गरीबों को 10 फीसदी आरक्षण पर हाईकोर्ट का मोदी सरकार को नोटिस, 18 फरवरी से पहले देना होगा जवाब

2019-01-10_PmModi.jpg

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि बीजेपी गठबंधन करने के लिए तैयार है और वह अपने पुराने मित्रों के साथ दोस्ती निभाते हुए चलती है. इसी के साथ उन्होंने इस बात के संकेत दे दिए कि बीजेपी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर तमिलनाडु में राजग को मजबूत करना चाहती है. 

तमिलनाडु में पांच जिलों के बूथ स्तरीय कार्यकर्ताओं के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बातचीत में पीएम ने नब्बे के दशक में पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा शुरू की गई 'सफल गठबंधन राजनीति' को याद किया और कहा कि बीजेपी के दरवाजे 'हमेशा खुले हैं.'

उन्होंने कहा, 'बीस साल पहले दूरदर्शी नेता अटलजी भारतीय राजनीति में नई संस्कृति लाए थे जो कि सफल गठबंधन राजनीति की संस्कृति थी. उन्होंने क्षेत्रीय आकांक्षाओं को सर्वाधिक महत्व दिया...अटलजी ने जो रास्ता हमें दिखाया था बीजेपी उसी पर चल रही है.' पीएम मोदी एक कार्यकर्ता के इस सवाल का जवाब दे रहे थे कि क्या बीजेपी अन्नाद्रमुक, द्रमुक या रजनीकांत के साथ गठबंधन करेगी. रजनीकांत ने अभी अपना राजनीतिक दल नहीं बनाया है.

क्षेत्रीय दलों के साथ 'अच्छा व्यवहार ना करने' के लिए कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, 'अटलजी ने जो किया वह कांग्रेस के ठीक विपरीत है जिसने कभी क्षेत्रीय आकांक्षाओं की परवाह नहीं की.' उन्होंने कहा, 'कांग्रेस ने क्षेत्रीय राजनीतिक दलों, महत्वाकांक्षाओं और लोगों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया क्योंकि उन्हें लगता है कि केवल उनके पास ही सत्ता में होने का अधिकार है.'

भारतीय जनता पार्टी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में तमिलनाडु में पीएमके, एमडीएमके समेत छोटे-छोटे क्षेत्रीय दलों के साथ गठबंधन किया था और 39 में से दो सीटों पर जीत दर्ज की थी जिसमें से एक सीट पार्टी ने और दूसरी पीएमके ने जीती थी.

 
 



loading...