2 माह के जिस बेटे को डॉक्टरों ने बताया बेटी, 10 साल बाद सर्जरी से बदलेंगे जननांग

राजस्थान में सीएम के नाम के ऐलान में देरी होने पर पायलट के समर्थकों ने हाइवे किया जाम, भोपाल में सिंधिया और कमलनाथ के समर्थकों का हंगामा

विधानसभा चुनाव परिणाम: राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्‍तीसगढ़ में मायावती को बड़ी सफलता, अखिलेश को बड़ा नुकसान

Rajasthan Assembly Election Result: सीएम पद को लेकर सचिन पायलट और अशोक गहलोत में खींचतान, राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस टली

विधानसभा चुनाव परिणाम: राजस्थान में कांग्रेस को बहुमत, झालरापाटन सीट पर जीतीं वसुंधरा राजे

विधानसभा चुनाव: राजस्थान में 199 सीटों के लिए मतदान जारी, दोपहर 1 बजे तक 41.43 फीसदी वोटिंग

शरद यादव की विवादित टिप्‍पणी पर राजे ने कहा- मैं अपमानित महसूस कर रही हूं, चुनाव आयोग को एक्शन लेना चाहिए

2018-09-19_organschanged.jpg

विक्रम (बदला हुआ नाम) का दो महीने का बेटा जन्म के बाद से ही बार-बार बीमार हो रहा था. उसे उल्टी-दस्त होते थे. बीकानेर के डॉक्टर सामान्य इलाज करते रहे. तबीयत बिगड़ती गई तो हार्मोन की जांच करवाई. इससे पता चला कि वह एक अंग को छोड़कर पूरी तरह लड़की है.

छह महीनों में देश में ऐसा तीसरा मामला सामने आया है. इनमें से एक 14 साल का लड़का था. वह कैंसर का इलाज करवाने उत्तरप्रदेश से बीकानेर आया था. डॉ. जितेंद्र नागल ने बताया कि इलाज के बाद उसका कैंसर ठीक हो गया. अब वह खुद को हालात के मुताबिक ढाल रहा है. तीसरे बच्चे की इलाज के दौरान मौत हो गई थी.

क्या यही बच्चे बनते हैं समलैंगिक?
डॉ. तंवर: हां. ऐसा हो सकता है. इसकी वजह यह है कि ये लोग बाहर से दिखने में जो होते हैं, अंदर से उसके विपरीत होते हैं. वे वास्तव में प्रतिकूल लिंग की तरफ ही आकर्षित हो रहे होते हैं, लेकिन हमें समलैंगिक लगते हैं.

क्या ऐसी बीमारी से ही समलैंगिक होते हैं?
डॉ. तंवर: बिलकुल नहीं. यह सिर्फ एक वजह है. इसके अलावा भी बहुत सारे कारण हो सकते हैं.



loading...