बीजेपुर उपचुनाव 2018: 41 हजार वोटों से जीतीं BJD की रीतारानी, नवीन पटनायक ने जताया जनता का आभार

2018-02-28_BJD-win.jpg

ओडिशा के बीजेपुर विधानसभा उपचुनाव में राज्य में सत्ताधारी बीजेडी की उम्मीदवार ने 41,933 वोटों के मार्जिन से जीत दर्ज की है. बीजेडी की उम्मीदवार रीता साहू ने 1,02,871 वोट लेकर बीजेपी और कांग्रेस समेत सारे उम्मीदवारों को बहुत पीछे छोड़ दिया. दूसरे नंबर पर रहे बीजेपी के उम्मीदवार अशोक पाणिग्रही को 60 हजार के करीब वोट मिले जबकि उपचुनाव से पहले कांग्रेस की झोली में रही बीजेपुर सीट पर कांग्रेस को सिर्फ 10 हजार के करीब वोट मिले. 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने बीजेडी को 458 वोटों से हराकर ये सीट जीती थी.

बीजेपुर में मिली शानदार जीत पर ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने भी ट्वीट कर लोगों का आभार जताया है. पटनायक ने पार्टी कार्यकर्ताओं को कड़ी मेहनत के लिए और बीजेपुर के लोगों को उनके प्यार और समर्थन के लिए शुक्रिया कहा. पटनायक ने अपने ट्वीट में लिखा है, ”बीजेडी को दिए प्यार और समर्थन के लिए बीजेपुर के लोगों का शुक्रिया, बीजेडी ओडिशा के लोगों के दिलों में है, ओडिशा के लोग शांति प्रिय लोग हैं इसीलिए हमने नफरत और हिंसा की राजनीति करने वालों को नकार दिया है”.

इसके बाद मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ साथ भगवान जगन्नाथ को भी याद करते हुए ट्वीट किया. पटनायक ने लिखा, ”बीजेडी के उन सभी कार्यकर्ताओं का शुक्रिया जिनकी मेहनत की वजह से हमें ये जीत मिली, हम एक विकसित और खुशहाल ओडिशा बनाने के लिए अपना कार्य जारी रखेंगे, जय जगन्नाथ”.

पिछले साल अगस्त में कांग्रेस विधायक सुबल साहू के निधन से बीजेपुर विधानसभा सीट खाली हुई थी. बीजेपुर सीट पर हुए उपचुनाव में 13 उम्मीदवार मैदान में थे लेकिन मुख्य मुकाबला बीजेडी और बीजेपी के बीच था. कांग्रेस की ओर से दिवंगत विधायक सुबल साहू की पत्नी रीता साहू को ही टिकट दिया गया था, बीजेपी ने अशोक पाणिग्रही और कांग्रेस ने प्रणय साहू को अपना उम्मीदवार बनाया था.

बीजेपुर सीट के लिए हुए उपचुनाव में 2.21 लाख वोटर्स ने मतदान किया था. उपचुनाव के लिए हुए प्रचार के दौरान बीजेडी और बीजेपी के बीच काफी कड़ा मुकाबला देखा गया था. इस उपचुनाव के नतीजे अगले साल होने वाले विधानसभा और लोकसभा चुनावों पर असर डाल सकते हैं.



loading...