बिहार-असम में बाढ़ से हाहाकार, अब तक 95 लोगों की मौत, 1 करोड़ से ज्यादा लोग प्रभावित

2019-07-18_AssamFlood.jpg

बिहार और असम भारी बारिश के बाद बाढ़ से बुरी तरह से प्रभावित हैं. दोनों राज्यों में बुधवार तक मरने वालों की संख्या 95 पहुंच गई. बिहार में 12 जिलों के 46.83 लाख लोग प्रभावित हैं, जबकि 67 लोगों की मौत हुई. अकेले सीतामढ़ी में 17 और मधुबनी में 11 लोग मारे गए. वहीं, असम में 29 जिलों के 57 लाख लोग बाढ़ की चपेट में हैं. यहां 28 लोग जान गंवा चुके हैं.

असम मौसम विभाग के मुताबिक, ब्रह्मपुत्र और उसकी सहायक नदियां गुवाहाटी समेत राज्य के ज्यादातर जिलों में खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. राज्य में रेड अलर्ट जारी किया गया है. केंद्र सरकार ने राहत और बचाव के लिए 251.55 करोड़ रुपए की सहायता राशि जारी की है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल से बात की और हरसंभव मदद का आश्वासन दिया.

असम में ढुबरी के असिस्टेंट जेलर सीके हलोई ने कहा कि जिला जेल में पानी भर गया है. डीएसपी अनंत लाल ज्ञानी के आदेश पर 409 कैदियों को अस्थायी तौर पर गर्ल्स कॉलेज में शिफ्ट किया गया. 1.50 लाख बेघर हो गए. प्रशासन ने सभी के लिए 427 राहत कैम्प और 392 राहत सामग्री वितरण केंद्र लगाए.

बिहार के सीतामढ़ी में 17, अररिया में 12, मधुबनी में 11, शिवहर में 9, पूर्णिया में 7, दरभंगा में 5, किशनगंज में 4 और सुपौल में 2 लोग जान गंवा चुके हैं. सबसे गंभीर स्थिति सीतामढ़ी की है, जहां की 176 पंचायतों की 17 लाख आबादी बाढ़ से प्रभावित है. अररिया के नौ प्रखंडों की 124 पंचायतें जलमग्न हैं. यहां 9.24 लाख लोग बाढ़ की चपेट में हैं.
फिलहाल, 1.14 लाख लोगों ने 137 राहत शिविरों में शरण ले रखी है. प्रभावित जिलों में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की 26 टीमों को राहत और बचाव कार्य में लगाया गया है.



loading...