ताज़ा खबर

26/11 मुंबई हमले के मोस्‍ट वांटेड आतंकवादी हाफिज सईद के खिलाफ टेरर फंडिंग के आरोप तय

2019-12-11_HafizSaeed.jpg

पाकिस्‍तान में लाहौर की आतंकवाद निरोधी अदालत ने 26/11 मुंबई हमले के मोस्‍ट वांटेड आतंकवादी हाफिज सईद पर आरोप तय कर दिया है. इससे पहले 7 दिसंबर को आतंकवाद निरोधी अदालत हाफिज सईद के खिलाफ आतंकवाद के वित्त पोषण को लेकर कोर्ट आरोप तय नहीं कर सकी थी. तब इस मामले में एक सह आरोपी की पेशी नहीं हो पाई थी. कोर्ट ने अगली सुनवाई के लिए आज की तारीख दी थी. आज हुई सुनवाई के बाद लाहौर की आतंक निरोधी अदालत ने हाफिज सईद के खिलाफ आरोप तय कर दिया है. आपको बता दें कि हाफिज सईद मुंबई आतंकवादी हमले का मास्टरमाइंड है और उसके संगठन जमाद-उद-दावा को प्रतिबंधित कर दिया गया है.

हाफिज सईद पर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की पुलिस ने 3 जुलाई को मुकदमा दर्ज किया था. उसके अलावा उसके एक सहयोगी के खिलाफ 23 एफआईआर दर्ज किए गए थे. 17 जुलाई को उसे गिरफ्तार कर लिया गया था. इसके बाद से ही वह लाहौर के कोट लखपत जेल में बंद था, हालांकि बीच-बीच में उसे जेल से रिहा करने की भी खबरें भी आती रही हैं. हाफिज पर अपने गैर लाभकारी संगठनों की मदद से आतंकी गतिविधियों के लिए पैसे जुटाने का आरोप है.

मुंबई हमले में हाफिज सईद और उसके संगठन की संलिप्‍तता को लेकर भारत ने कई बार पाकिस्‍तान को डोजियर सौंपा, लेकिन पाकिस्‍तान ने उस पर कोई कार्रवाई नहीं की. पिछली सुनवाई के दौरान सरकारी वकील अब्दुर रऊफ भट्टी ने लाहौर की आतंकवाद निरोधी अदालत से जल्‍द से जल्‍द इस मामले की सुनवाई करके फैसला सुनाने का अनुरोध किया था, जबकि हाफिज सईद के वकील का कहना है कि सुबूतों को लेकर सुनवाई अभी बाकी है.
 



loading...