भय्यूजी आत्महत्या: मामले में आया नया मोड़, मरने से पहले करदी थी सारी प्रॉपर्टी सेवादार के नाम

मध्यप्रदेश के उज्जैन में बड़ा दर्दनाक हादसा, कार और वैन की टक्कर में 12 की मौत, पूर्व सीएम शिवराज ने जताया दुःख

मध्यप्रदेश: BSP विधायक रमाबाई ने कहा- अगर मुझे मंत्री नहीं बनाया तो कर्नाटक जैसा होगा कमलनाथ सरकार का हाल

बैकफुट पर कमलनाथ सरकार, मंत्री के बयान पर दी सफाई, कहा- बंद नहीं होगी ‘भावांतर योजना’

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने की पूर्व सीएम शिवराज सिंह से मुलाकात, MP में मच सकती है सियासी उथल-पुथल

भय्यू महाराज ने ब्लैकमेलिंग से परेशान होकर की थी आत्महत्या, 3 लोग गिरफ्तार

कर्नाटक के बाद अब मध्यप्रदेश में कांग्रेस हुई सतर्क, बीजेपी नेता ने कहा- जब तक मंत्रियों के बंगले पुतेंगे कांग्रेस सरकार गिर जाएगी

2018-06-13_secondsuicidenote.jpg

आध्यात्मिक संत भय्यूजी महाराज की सुसाइड के केस में एक नया मोड़ आ गया है. उनकी मौत के बाद अब एक और लैटर सामने आया है जिसमें उन्होंने अपनी सारी प्रॉपर्टी अपने सेवादार विनायक के नाम करदी. भय्यूजी ने अपनी सारी संपत्ति अपने सबसे करीबी रहे सेवादार विनायक के नाम की है. नोट में भय्यूजी ने लिखा है कि मेरी सारी आर्थिक शक्तियां, प्रॉपर्टीज, बैंक अकाउंट्स की सारी जिम्मेदारी मेरे मरने के बाद विनायक संभालेगा. मैं विनायक पर ट्रस्ट करता हूं. इसलिए उसे ये सारी जिम्मेदारी देकर जा रहा हूं और ये मैं बिना किसी दबाव के लिख रहा हूं. 

अवगत हो कि पहली बार देखने पर इस सुसाइड नोट और पुलिस को मिले पहले नोट में अंतर दिखाई दे रहा है. विनायक पिछले 15 सालों से भय्यूजी महाराज की सेवा करता आया है. जब भय्यूजी महाराज ने खुद को गोली मारी थी उस समय सेवादार विनायक भी घर में मौजूद था. ज्ञात हो कि इस सुसाइड नोट के अलावा पुलिस को भैय्यूजी की डेड बॉडी के पास से रिवॉल्वर, मोबाइल, टैब, लैपटॉप, फोन सहित 7 गैजेट्स मिले थे.

आपको बता दें कि इससे पहले पुलिस को भय्यूजी की पॉकेट डायरी से डेढ़ पेज का एक और सुसाइड नोट मिला था, जो अंग्रेजी में है उसमें पारिवारिक कलह का जिक्र करते हुए उन्होंने खुद को बेहद तनाव मे होना बताया है. 2015 में उनकी पहली पत्नी माधवी की मृत्यु हो जाने से वह अकेलेपन के शिकार हो गये थे हालांकि उनकी माधवी से एक बेटी थी.



loading...